रामदेवरा में भा'दवा मेला 2018 शुरू, सभी प्रशासनिक व्यवस्थाएं पूर्ण

रामदेवरा में भा'दवा मेला 2018 शुरू, सभी प्रशासनिक व्यवस्थाएं पूर्ण

Deepak Vyas | Publish: Sep, 11 2018 11:47:18 AM (IST) Ramdevra, Rajasthan, India

अंतरप्रांतीय मेला मंगलवार से विधिवत रूप से शुरू होगा। बाबा रामदेव के 634वें अंतरप्रांतीय मेले को लेकर सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है।

रामदेवरा. अंतरप्रांतीय मेला मंगलवार से विधिवत रूप से शुरू होगा। बाबा रामदेव के 634वें अंतरप्रांतीय मेले को लेकर सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। रामदेवरा में बाबा की समाधि के दर्शन करने के लिए हजारों श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा हुआ है। इन दिनों दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को सुगमतापूर्वक दर्शन करवाने के लिए पुलिस की ओर से सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए है। पुलिस की ओर से मेले में सुरक्षा, कानून एवं शांति व्यवस्था के लिए 1700 से अधिक सुरक्षाकर्मी रामदेवरा में तैनात किए गए है, जो दर्शनार्थियों की सुरक्षा की जिम्मेवारी देख रहे है। मेला मैदान में लगातार बढ रही श्रद्धालुओं की तादाद को देखते हुए प्रशासन की ओर से मेला चौक में प्रकार के वाहनों के आने पर रोक लगाई गई है। सडक़ मार्ग पर लगातार पदयात्रियों की चहल पहल लगी हुई है।
22 घंटे खुला रहेगा मंदिर
गत एक पखवाड़े से उमड़ रही दर्शनार्थियों की भीड़ को देखते हुए बाबा रामदेव समाधि समिति की ओर से मंदिर में दर्शनों का समय बढ़ा दिया गया है। गत कई दिनों से 20 घंटे तक मंदिर को खुला रखकर मंदिर की व्यवस्था की गई है। मंगलवार से मंदिर 22 घंटे खुला रखकर श्रद्धालुओं को दर्शन करवाया जाएंगे। अलसुबह तीन बजे पूजा-अर्चना व मंगला आरती के बाद मंदिर का मुख्य द्वार खोल दिया जाएगा तथा दर्शन शुरू हो जाएंगे, जो रात्रि एक बजे तक चलेंगे। एक बजे से तीन बजे तक मंदिर की सफाई व अन्य व्यवस्थाओं के लिए मंदिर बंद रहेगा तथा दूसरे दिन पुन: तीन बजे मंदिर दर्शनों के लिए खोल दिया जाएगा। इस तरह प्रतिदिन 22 घंटे तक दर्शनों की व्यवस्था की गई है, ताकि अधिक से अधिक लोग कम समय में दर्शन कर सके। मंदिर के बाहर कतार में खड़े श्रद्धालुओं को एक साथ आठ कतारों में दर्शन करवाने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा मंदिर व दर्शनार्थियों की सुरक्षा को देखते हुए मंदिर में प्रवेश करने वाले प्रत्येक श्रद्धालु की मुख्य द्वार पर लगे मैटल डिटेक्टर गेट से जांच की जा रही है।

रामसरोवर पर पर्याप्त इंतजाम
रामसरोवर पर पुलिस चौकी, स्वास्थ्य चौकी, आरएसी सहित स्थानीय तैराकों को लगवाया गया है, ताकि श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा व राहत मिल सके। यहां दर्शनार्थ आने वाले अधिकांश गरीब व मध्यम वर्ग के श्रद्धालु धर्मशालाओं एवं महंगी होटलों में ठहरने की बजाय रामसरोवर की पाल व घाटों पर ही अपना डेरा डाल देते है। जिससे यहां श्रद्धालुओं की चहल पहल नजर आ रही है। रामसरोवर पर दिन रात श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को देखते हुए यहां प्रशासन की ओर से अलग से सुरक्षा जाब्ता, स्वास्थ्य चौकियां लगाकर व्यवस्थाएं की गई है तथा मंदिर समिति की ओर से घाटों पर प्रतिदिन सफाई, रौशनी, तैराकों आदि की भी व्यवस्था की गई है।

पदयात्रियों का रेला
इन दिनों रामदेवरा आने वाले सभी सडक़ मार्गों पर पदयात्रियों का रेला लगा हुआ है। पोकरण व बीकानेर की तरफ से आने वाले दोनों राष्ट्रीय राजमार्गों पर पदयात्रियों से अटे पड़े है। ये पदयात्री धूप, प्यास व तकलीफों की बिना परवाह किए अनवरत रूप से रामदेवरा की ओर बढ रहे है तथा बाबा की समाधि के दर्शन करने के बाद ही विश्राम कर रहे है। बाबा रामदेव के जयकारे लगाते प्रतिदिन हजारों श्रद्धालु यहां पहुंच रहे है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned