scriptBig Issue: Unclaimed dead bodies will get 'salvation', fire bikes will | Big Issue: लावारिस शवों को मिलेगा 'मोक्ष', संकड़े मार्गों पर आग बुझाएगी फायर बाइक | Patrika News

Big Issue: लावारिस शवों को मिलेगा 'मोक्ष', संकड़े मार्गों पर आग बुझाएगी फायर बाइक

- मृत देह को शमशान तक पहुंचाने का दायित्व निभाएगी वाहिनी
-स्वायत्त शासन विभाग ने दी मंजूरी, कुल 11 वाहनों की होगी खरीद

जैसलमेर

Published: June 26, 2022 08:21:06 pm

चंद्रशेखर व्यास* जैसलमेर. अब लावारिस शवों के अंतिम संस्कार का जिम्मा मोक्ष वाहिनी निभाएगी, वहीं संकड़े मार्गों में आग से आशियाने खाक होने की स्थिति को फायर बाइक्स रोकेगी। यदि सब कुछ ठीक रहा तो आगामी दिनों में ऐसे ही वाहनों की सुविधा स्वर्णनगरी के बाशिंदों को मिल सकेगी। इस संबंध में स्वायत्त शासन विभाग की मंजूरी भी मिल चुकी है। नगरपरिषद प्रशासन की माने तो इन वाहनों से जिंदगी को आसान बनाने से लेकर उसे बचाने तक का ही काम ही नहीं लिया जाएगा बल्कि व्यक्ति को मृत्यु के बाद श्मशान तक पहुंचाने में भी मदद मिलेगी। राज्य के स्वायत्त शासन विभाग ने नगरपरिषद की मांग के अनुरूप मोक्ष वाहिनी से लेकर छोटे फायर वाहन ही नहीं फायर बाइक तक की खरीद के लिए प्रशासनिक और वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी है। नगरपरिषद की गत आम बैठक में प्रस्ताव लिए जा चुके हैं। जिन पर स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक ने मंजूरी की मोहर लगा दी है। कुल 11 वाहनों की खरीद की जाएगी। मोक्ष वाहिनी जैसे वाहनों की गत कोरोना काल में जरूरत महसूस की गई थी और संक्रमण के भय से शवों को लोडर टैक्सी आदि के सहारे ही अधिकांशत: श्मशान स्थलों तक ले जाया गया था। अब तक लावारिस शवों के अंतिम संस्कार की व्यवस्था पुलिस बल नगरपरिषद के माध्यम से करवाता है। अब इसके लिए यह मोक्ष वाहिनी नामक वाहन काम आएगा। ऐसे ही ऐतिहासिक दुर्ग सहित शहर के अंदरूनी भागों में जहां अग्रिशमन की बड़ी गाड़ी नहीं पहुंच सकती, वहां फायर बाइक से आग बुझाई जाएगी। परिषद आयुक्त शशिकांत शर्मा ने बताया कि जल्द ही इन वाहनों की नियमानुसार खरीद की कार्रवाई अमल में लाएंगे।

Big Issue: लावारिस शवों को मिलेगा 'मोक्ष', संकड़े मार्गों पर आग बुझाएगी फायर बाइक
Big Issue: लावारिस शवों को मिलेगा 'मोक्ष', संकड़े मार्गों पर आग बुझाएगी फायर बाइक

स्वर्णनगरी के बाशिंदों को मिलेंगे ये वाहन भी
- अधिक ऊंचाई वाले स्थान पर बचाव कार्य करने और रोड लाइट जैसे काम में उपयोगी एक स्काइ लिफ्ट की खरीद को भी मंजूरी मिली है।
- एक-एक बैक हो लोडर जिसे बड़ी जेसीबी माना जा सकता है और भारी सामान लाने-ले जाने के लिए डम्पर ट्रक भी खरीदा जाना है।
- साथ ही 5 गारबेज इ-कार्ट खरीदे जाएंगे। यह पूरी तरह से इको फ्रेंडली इलेक्ट्रोनिक छोटे रिक्शे होंगे। जो छोटी गलियों में जहां वर्तमान में संचालित डीजल टैक्सियां नहीं पहुंच सकती, वहां घर-घर से कचरा संग्रहण का काम करेंगी।

लम्बे अर्से से चल रही थी मांग
शहर क्षेत्र के मोक्ष वाहिनी के अलावा छोटे फायर वाहन और फायर बाइक की जरूरत लम्बे अर्से से महसूस की जा रही थी। पिछले नगरपरिषद बोर्ड की बैठकों में भी इन वाहनों की खरीद को लेकर चर्चा कई बार हुई लेकिन बात अंजाम तक नहीं पहुंच सकी। अब स्वायत्त शासन विभाग से प्रशासनिक तथा वित्तीय स्वीकृति मिल जाने के बाद उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही ये वाहन नगरपरिषद के बेड़े में शामिल हो सकेंगे। पिछले अर्से के दौरान सीवरेज लाइनों से कचरा निकालने संबंधी बड़े वाहन भी परिषद क्रय कर चुकी है।

नियम-शर्तें भी लागू
- नगरपरिषद को उपर्युक्त नए वाहनों की खरीद की कार्रवाई शुरू करने से पहले नाकारा, अनुपयोगी वाहनों अथवा उपकरणों की नीलामी करनी होगी।
- उक्त वाहन नगरपरिषद की निजी आय से खरीद जाएंगे।
- वाहनों की खरीद सरकारी इ-मार्केट प्लेस (जेम) के जरिए करनी होगी।
- बजट प्रावधान करने के बाद ही वाहनों की खरीद की कार्रवाई अमल में लाएगी।

मिलेगी बड़ी राहत
नगरपरिषद की ओर से नए वाहनों की खरीद से शहरवासियों को बड़ी राहत मिलेगी। मोक्ष वाहिनी और छोटे फायर वाहन व फायर बाइक की खरीद आमजन से सीधे तौर पर जुड़ी समस्या के समाधान की दिशा में बड़ा कदम है।
- हरिवल्लभ कल्ला, सभापति, नगरपरिषद, जैसलमेर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

अरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेMaharashtra Cabinet Expansion: कल हो सकता है शिंदे मंत्रिमंडल का विस्तार, CM आवास पहुंचे देवेंद्र फडणवीस'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीShirdi Flood: शिरडी में भारी बारिश से हाहाकार, सरकारी विश्राम गृह और साईं प्रसादालय पानी में डूबा, देखें तस्वीरेंझारखंडः जमशेदपुर में माता-पिता की हत्या कर 13 साल की बेटी हुई फरार, खून से सने लाश के साथ हथौड़ा भी बरामदखाटूश्यामजी हादसा: दो शवों की भी हुई शिनाख्त, पीएम मोदी ने जताया दुख, सीएम ने की जांच व मुआवजे की घोषणाMaharashtra Coal Scam: दिल्ली कोर्ट का फैसला- पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को 3 और कंपनी डायरेक्टर को 4 साल की जेल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.