मुख्यमंत्री की वीसी में केबिनेट मंत्री व विधायक ने दिए सुझाव

जैसलमेर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से रविवार को सीएमआर से वीसी लेकर केन्द्रीय मंत्रियों, राजस्थान के मंत्री, सांसदों एवं प्रदेश भर के विधायकों के साथ चर्चा की गई। इस दौरान कोरोना महामारी से बचाव व रोकथाम के उपायों, लॉक डाउन की स्थितियों, प्रवासियों के आगमन, टिड्डी नियंत्रण, समर्थन मूल्य पर फसल खाद्यान्न खरीद आदि विभिन्न विषयों पर संवाद कायम किया गया।

By: Deepak Vyas

Published: 10 May 2020, 08:22 PM IST

जैसलमेर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से रविवार को सीएमआर से वीसी लेकर केन्द्रीय मंत्रियों, राजस्थान के मंत्री, सांसदों एवं प्रदेश भर के विधायकों के साथ चर्चा की गई। इस दौरान कोरोना महामारी से बचाव व रोकथाम के उपायों, लॉक डाउन की स्थितियों, प्रवासियों के आगमन, टिड्डी नियंत्रण, समर्थन मूल्य पर फसल खाद्यान्न खरीद आदि विभिन्न विषयों पर संवाद कायम किया गया। इस दौरान जैसलमेर के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभागीय वीसी रूम से अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद एवं जैसलमेर विधायक रूपाराम ने हिस्सा लेकर मुख्यमंत्री से चर्चा की।
दोनों जन प्रतिनिधियों ने जैसलमेर जिले में कोरोना नियंत्रण, टिड्डी नियंत्रण के लिए वाहनों और संसाधनों में पर्याप्त बढ़ोतरी करते हुए सीमावर्ती क्षेत्रों में ही टिड्डियों पर नियंत्रण के सभी संभव उपाय सुनिश्चित करने, प्रवासियों को बाहर से लाने की व्यवस्था को और अधिक सरल बनाने, महानरेगा, स्वीकृतियों के सरलीकरण आदि पर प्रभावी कार्यवाही का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने केबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद एवं विधायक रूपाराम की ओर से दिए गए सुझावों को गंभीरता से लेकर कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि प्राथमिकता के अनुसार श्रमिकों की सूचना तैयार कर भिजवाएं ताकि प्रवासी श्रमिकों को अपने मूल जिलों में लाने की कार्यवाही को सुव्यवस्थित तरीके से संपादित किया जा सके। मुख्यमंत्री ने जैसलमेर.बाड़मेर जिले के प्रभारी मंत्री ऊर्जा एवं जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बीडी कल्ला से भी वीसी से चर्चा कर फीडबेक लिया। प्रभारी मंत्री ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि दो दिन पूर्व ही दोनों जिलों के अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग से चर्चा कर ली गई है और आवश्यक दिशा.निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने ग्रीष्मकाल में पेयजल प्रबन्धन को मजबूती देने के लिए किए गए प्रयासों की जानकारी दी। अल्पसंख्यक मामलातए वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद ने मुख्यमंत्री को जैसलमेर जिले की सम सामयिक स्थितियों से अवगत कराया और बाहर के राज्यों मेंं फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों को जैसलमेर लाए जाने के सरल संभव प्रयास करने, आम सभा और ग्राम सभा आयोजन नहीं हो पाने की स्थिति में राज्य सरकार के स्तर पर निर्णय लेकर जिलों में कार्य स्वीकृत कर अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मुहैया कराने की व्यवस्था करने आदि महत्वपूर्ण सुझाव दिए। इन पर मुख्यमंत्री ने कारगर कार्यवाही का आश्वासन दिया। विधायक रूपाराम ने मुख्यमंत्री को जैसलमेर जिले में कोरोना महामारी से बचाव व रोकथाम के उपायों तथा वर्तमान हालातों से निपटने में प्रशासन और जन प्रतिनिधियों की समन्वित भागीदारी से बेहतर प्रयासों की जानकारी दी और कहा कि मुख्यमंत्री एवं सरकार के निर्देशों के अनुरूप जिले में अच्छी कार्यवाही का ही परिणाम है कि जिला अब ग्रीन जोन में आने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।
उन्होंने जैसलमेर मूल के बाहर रह रहे प्रवासियों के जैसलमेर पहुंचने के लिए वाहनों के पास जारी करने की प्रक्रिया को सरलीकृत करनेए अधिकाधिक श्रमिकों को महानरेगा में नियोजित करने के लिए एक जोब कार्ड पर दो जनों को मौका दिए जानेए लॉक डाउन के मानदण्ड निर्धारण में जनसंख्या घनत्व के अनुरूप कार्यवाही करनेए 20.21 की कार्ययोजना में औपचारिक प्रक्रिया में शिथिलता देते हुए सड़क व ग्रामीण विकास के कार्य जल्द से जल्द आरंभ करने आदि के सुझाव दिए। मुख्यमंत्री की वीडियो कांफ्रेंस के दौरान जैसलमेर वीसी कक्ष में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीके बारूपाल, तहसीलदार विकास भाटी, संयुक्त निदेशक आशुतोष गौतम आदि अधिकारी उपस्थित थे।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned