script'Cam Cho,' have fun.' . drenched in the colors of Gujarat | 'कैम छो, 'मजा मा.' . गुजरात के रंग में सराबोर जैसाण | Patrika News

'कैम छो, 'मजा मा.' . गुजरात के रंग में सराबोर जैसाण

-पर्यटन स्थ्लों पर उमड़ रहा हुजूम, होटलें हुई 'हाउसफुल '
-लाभ पंचमी तक चलेगा यह सैलाब, गुजरात में पांच दिन पर्व मनाने का रिवाज

जैसलमेर

Updated: November 08, 2021 04:03:08 pm


जैसलमेर. दिवाली से शुरू हुआ गुजराती पर्यटकों के आगमन का ताबड़तोड़ सिलसिला अब चरम पर पहुंच गया है। हर दिन हजारों गुजराती सैलानी मरुस्थलीय शहर की सुंदरता के मोहजाल में खिंचे हुए पहुंच रहे हैं। दिन में सोनार दुर्ग की घाटियों पर महानगरों जैसा यातायात देखने को मिल रहा है। शहर की होटलें ही नहीं बल्कि धर्मशालाएं और रहने के आश्रय स्थलोंके साथ सम व खुहड़ी के रिसोर्ट्स 'हाउसफुलÓ हो गए हैं। गुजरात में दिवाली के पर्व को पांच दिन तक मनाने का रिवाज है। यह 'लाभ पंचमीÓ तक चलता है। वहां पांच दिन तक आमतौर पर सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान वगैरह भी बंद रहते हैं। यही वजह है कि दिवाली पर लक्ष्मी पूजन से फारिग होकर गुजरात के जैसलमेर प्रिय सैलानी यहां का रुख कर लेते हैं। पूरे पांच दिन तक शहर में गुजरात पासिंग वाली छोटी गाडिय़ों से लेकर बड़ी बसें तक दिखाई पड़ती हैं। आगामी दो दिन तक बम्पर भीड़ का यह क्रम जारी रहने वाला है, इसके बाद इसमें उतार आएगा।
सोनार दुर्ग पहली पसंद
गुजराती सैलानियों की पहली पसंद जैसलमेर का विख्यात सोनार दुर्ग बना हुआ है। एक साथ हजारों की संख्या में सैलानियों के दुर्ग आने से अपराह्न तक सोनार दुर्ग में पांव रखने को जगह नहीं मिल रही। दुर्ग की घाटियां इन सैलानियों से सराबोर है, वहीं दुर्ग के दशहरा चौक में तो मानो कोई मेला लगा हुआ है। शहर के प्रमुख रेस्टोरेंट, हैण्डीक्राफ्ट की दुकानें व अन्य दुकानों पर गुजराती पर्यटकों की चहल-पहल परवान पर है। स्वर्णनगरी में गुजराती पर्यटकों के आगमन से पर्यटन व्यवसायियों में नए जोश का मानो संचार हुआ है। गुजराती सैलानियों के आगमन ने पर्यटन व्यवसाय में फिर से जान फूंक दी है। व्यवसायियों की बांछें खिल गई हैं। आर्थिक रूप से संपन्न माने जाने वाले गुजराती सैलानी ठहरने और खाने से लेकर प्रत्येक व्यवस्था की एवज में अच्छी राशि देने को तैयार रहते हैं। यही कारण है कि होटलों के कमरों से लेकर रिसोर्ट्स के हट्स व अन्य सेवाओं के भाव इन दिनों करीब दुगुने हो गए हैं। टे्रवल एजेंसियों के वाहनों को भी अच्छी बुकिंग नसीब हो रही है। कारोबार से जुड़े गाइड, कैमल सफारी संचालक और लोक कलाकारों की मंडलियों से लेकर नगर के नमकीन-मिष्ठान विक्रेताओं व अन्य दुकानदारों के व्यवसाय को पर्यटकों की भारी भीड़ से बड़ा सहारा मिला है।
'कैम छो, 'मजा मा.' . गुजरात के रंग में सराबोर जैसाण
'कैम छो, 'मजा मा.' . गुजरात के रंग में सराबोर जैसाण

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Army Day 2022: सेना प्रमुख MM Naravane ने दी चीन को चेतावनी, कहा- हमारे धैर्य की परीक्षा न लेंUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावUttar Pradesh Assembly Elections 2022: टूटेगी मायावती और अखिलेश की परंपरा, योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से लड़ेंगे विधानसभा चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंअब हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा National Start-up DayHaryana: सरकार का निर्देश, बिना वैक्सीन लगाए 15 से 18 वर्ष के बच्चों को स्कूल में नहीं मिलेगी एंट्रीUP Election: सपा RLD की दूसरी लिस्ट जारी, 7 प्रत्याशियों में किसी भी महिला को नहीं मिला टिकटजम्मू कश्मीर में Corona Weekend Lockdown की घोषणा, OPD सेवाएं भी रहेंगी बंद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.