एक व्यक्ति की मौत के बाद चेता नगरपालिका,आवारा पशुओं की समस्या दूर करने के लिए चलाया यह अभियान

- आवारा पशुओं को गौशाला भिजवाने की कवायद

By: Deepak Vyas

Published: 04 Apr 2019, 08:57 PM IST

Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

जैसलमेर/पोकरण. एक व्यक्ति की मौत के बाद अब नगरपालिका प्रशासन चेता है और आवारा पशुओं को गौशाला भिजवाने का अभियान शुरू किया। गौरतलब है कि गत कई महिनों से कस्बे में आवारा पशुओं की समस्या बनी हुई थी। जिससे आमजन को परेशानी हो रही थी। इन आवारा पशुओं की ओर से आए दिन लोगों को चोटिल किया जा रहा था तथा मुख्य सडक़ों पर आवारा पशुओं का जमावड़ा होने से यातायात व्यवस्था भी प्रभावित हो रही थी। पूर्व में आवारा सांडों की ओर से कस्बे में कुछ लोगों की मौत हो चुकी है, तो कुछ लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए है। गत एक सप्ताह पूर्व ही 29 मार्च को एक आवारा सांड ने स्थानीय निवासी देवाराम को सींगों में उठाकर पटक दिया। जिससे वह घायल हो गया और जोधपुर में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। इसी को लेकर राजस्थान पत्रिका के 30 मार्च के अंक में सिरदर्द बनी समस्या, लील रही जिंदगी शीर्षक से प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया गया। समाचार प्रकाशित होने के बाद नगरपालिका की ओर से तत्काल कार्रवाई करते हुए आवारा पशुओं को गौशाला भिजवाने का कार्य शुरू किया।
दो दर्जन आवारा पशुओं को भिजवाया गौशाला
नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी सुनीलकुमार बोड़ा ने बताया कि आवारा पशु धरपकड़ अभियान के प्रभारी नारायण के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। टीम की ओर से बुधवार की शाम आवारा पशुओं को पकडऩे का कार्य शुरू किया गया। टीम ने बुधवार की रात्रि व गुरुवार को दिनभर मशक्कत कर दो दर्जन से अधिक आवारा पशुओं को चैन पब्लिक गौशाला भिजवाया। उन्होंने बताया कि यह अभियान आगे भी जारी रहेगा और आवारा पशुओं को गौशाला भिजवाया जाएगा।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned