Video: सांकड़ा में ढह गया कांग्रेस का किला, भाजपा के तंवर ने तीन मतों से जीत की हासिल

- भणियाणा में कांग्रेस की गोदारा ने जीत की हासिल

By: Deepak Vyas

Published: 11 Dec 2020, 08:53 PM IST


पोकरण. पंचायत समिति सांकड़ा के प्रधान पद के लिए गुरुवार को संपन्न हुए चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी भगवतसिंह तंवर ने कांग्रेस की प्रत्याशी उदयकंवर को तीन मतों से हराकर जीत हासिल की। पंचायतीराज चुनावों के अंतर्गत गुरुवार को पंचायत समिति सांकड़ा प्रधान के लिए चुनाव प्रक्रिया के अंतर्गत नामांकन भरने के अंतिम समय तक कांग्रेस से उदयकंवर व भाजपा के भगवतसिंह तंवर ने अपने नामांकन पत्र जमा करवाए। जिसके लिए अपराह्न तीन बजे से साढ़े चार बजे तक सभी 17 पंचायत समिति सदस्यों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मतदान के कुछ ही देर में हाथों हाथ मतगणना कर निर्वाचन अधिकारी अजय अमरावत ने परिणाम की घोषणा की। निर्वाचन अधिकारी अमरावत ने घोषणा करते हुए बताया कि पंचायत समिति के सभी निर्वाचित सदस्यों ने मतदान किया। जिसमें सभी मत वैध पाए गए। भाजपा के तंवर को 10 व कांग्रेस की उदयकंवर को सात वोट मिले। जिसके आधार पर भाजपा प्रत्याशी भगवतसिंह तंवर को तीन मतों से विजयी घोषित किया गया। भगवतसिंह को सांकड़ा समिति के प्रधान निर्वाचित होने पर निर्वाचन अधिकारी ने उन्हें पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई व जीत का प्रमाण पत्र सुपुर्द कर उन्हें बधाई दी।
निर्दलीयों के भरोसे ढह गया कांग्रेस का किला
पंचायत समिति सांकड़ा में गत 20 वर्षों से कांग्रेस काबिज थी। यहां पूर्व में 2000 में कांग्रेस की श्रीमती सुनीता भाटी, 2005 में एडवोकेट अब्दुल रहमान मेहर, 2010 में वहीदुल्ला मेहर व 2015 में अमतुल्ला मेहर निर्वाचित हुई थी। 2019 में हुए उपचुनाव में भी कांग्रेस के वहीदुल्ला ने बाजी मारी थी। गत 20 वर्षों से कांग्रेस के किले को ढहाने के लिए भाजपा एड़ी से चोटी तक का जोर लगा रही थी। इस बार भाजपा ने निर्दलीय प्रत्याशियों के सहयोग से कांग्रेस को मात दी और प्रधान निर्वाचित करवाया। गौरतलब है कि पंचायत समिति सांकड़ा के 17 सदस्यों में से कांग्रेस व भाजपा के छह-छह सदस्य निर्वाचित हुए थे तथा पांच निर्दलीय प्रत्याशी थे। भाजपा ने चार निर्दलीय प्रत्याशियों को अपने विश्वास में लिया और मतदान करवाया। जिससे भाजपा ने 25 वर्षों बाद प्रधान पद पर पुन: अपना कब्जा किया है।
उमड़ी भीड़, पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत
मतदान व मतगणना के दौरान पंचायत समिति सांकड़ा कार्यालय के बाहर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। बड़ी संख्या में लोगों के यहां एकत्रित हो जाने के कारण पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी। भाजपा व कांग्रेस के कुछ नेता बेरीकेडिंग के अंदर आ गए। जिस पर पुलिस की ओर से समझाइश करते हुए उन्हें बेरीकेडिंग से बाहर निकाला गया। इस दौरान बाहर खड़े युवा हो-हल्ला करने लगे। जिस पर पुलिस ने समझाइश कर उन्हें बेरीकेडिंग से दूर किया और शांतिपूर्ण चुनाव प्रक्रिया संपन्न करवाई।
भणियाणा में गोदारा बनी पहली प्रधान
पंचायत समिति सांकड़ा से अलग होकर नवगठित हुई भणियाणा पंचायत समिति के पहले प्रधान का ताज कांग्रेस की दौलीदेवी के सिर चढ़ा। भणियाणा पंचायत समिति में 17 सदस्यों में से कांग्रेस के पास आठ, भाजपा के पास चार सीटें थी तथा पांच निर्दलीय प्रत्याशी विजयी हुए थे। गुरुवार को प्रधान चुनाव के दौरान कांग्रेस की दौलीदेवी को नौ तथा भाजपा की लीलादेवी को आठ मत मिले तथा दौलीदेवी को एक मत से विजयी घोषित किया गया। निर्वाचन अधिकारी राजेश विश्रोई ने प्रमाण पत्र सुपुर्द करते हुए पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई और बधाई दी। इस मौके पर समर्थकों ने खुशी जाहिर करते हुए आतिशबाजी की और मिठाइयां बांटी।
नाचना में कांग्रेस के अर्जुनराम पहले प्रधान
नाचना. पंचायत समिति जैसलमेर से अलग होकर नवगठित पंचायत समिति नाचना के पहले प्रधान का सेहरा अर्जुनराम के सिर सजा। गुरुवार को गांव के राजीव गांधी सेवा केन्द्र में प्रधान की चुनाव प्रक्रिया शांतिपूर्ण संपन्न हुई। पंचायत समिति नाचना में कुल 15 वार्ड है। यहां कांग्रेस के आठ व भाजपा के सात सदस्य निर्वाचित हुए थे। प्रधान चुनाव के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी अर्जुनराम को आठ व भाजपा प्रत्याशी इमियो को सात मत प्राप्त हुए। निर्वाचन अधिकारी झबरसिंह ने अर्जुनराम को प्रमाण पत्र सुपुर्द कर पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस मौके पर जैसलमेर के पूर्व प्रधान अमरदीन फकीर, पूर्व सरपंच भंवरुराम, जीवणखां, तुलछसिंह, नेमीचंद, छगनसिंह, खुशाल सोनी, अर्जुनराम, धर्मवीर, गिरीराज चाण्डक सहित ग्रामीण उपस्थित थे। इस मौके पर समर्थकों ने खुशी जाहिर करते हुए आतिशबाजी की।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned