नियमों की कड़ाई से कमजोर की कोरोना की कुण्डली

-जागरुकता जगाने में व्यापारियों ने निभाई बेहतर भूमिका
-सोशल डिस्टेेंसिंग का किया पालन तो दी ग्राहकों को भी सीख

By: Deepak Vyas

Published: 12 Nov 2020, 09:57 PM IST


जैसलमेर. सरहद के समीप बसे खूबसूरत जैसलमेर शहर भी कोरोना की कुण्डली से अछूता नहीं पाया। करीब पांच किलोमीटर के दायरे में बसे स्वर्णनगरी के बाशिंदे अन्य जिलों के आंकड़ों की तुलना में यदि कोरोना के लिहाज से राहत में हैं, तो उसका कारण यहां के बाशिंदों विशेषकर दुकानदारों की जागरुकता भी है। स्थानीय दुकानदारों ने न केवल अपने प्रतिष्ठानों में सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था कराई, बल्कि ग्राहकों को भी जागरुक किया कि वे भी न केवल सामान खरीदते समय बल्कि घर व अन्य स्थानों पर भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। दुकानों में सामान व ग्राहकों के बीच दूरी व सुविधा, दोनों का तालमेल बिठाते हुए दुकानदारों ने सेवाएं दी। यही नहीं किराने से लेकर मिठाई तक, दवाई से लेकर सब्जी तक, शो-रुम से लेकर चाय की थड़ी तक..। स्थानीय बाशिंदों को सोशल डिस्टेंंसिंग की पालना कराने में जैसलमेर के बाशिंदे पीछे नहीं रहे। उधर, पर्यटन पर आधारित अर्थव्यवस्था वाले जैसलमेर में भी यहां आने वाले सैलानियों को भी नियमों के अनुसार चलने की नसीहत दी। यह क्रम बदस्तूर अभी भी जारी है।
उठाना पड़ा नुकसान भी
नियमों की पालना करने व अन्य को भी करवाने के लिए प्रेरित करने के दौरान कई व्यापारियों व दुकानदारों को नुकसान उठाना पड़ा। दुकानदार जयशंकर बताते हैं कि जब सोशल डिस्टेंसिंग के अनुसार उनकी दुकान के बाहर रस्सियां लगाई गई और सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए ग्राहकों को मांगी जाने वाली सामग्री दी गई तो कई लोगों को यह व्यवस्था नागवार गुजरी। इसका असर उनकी ग्राहकी पर पड़ा, लेकिन कई लोगों ने इसकी सराहना की। अब यह व्यवस्था लोगों की दिनचर्या में शामिल हो चुकी है। शहर के गड़ीसर मार्ग, आसनी रोड, गोपा चौक, सदर बाजार, जिंदानी चौक, कचहरी रोड, गांधी चौक, हनुमान चौराहा, कलक्ट्रेट मार्ग, गीता आश्रम मार्ग पर दर्जनों व्यापारियों व दुकानदार कोरोना को रोकने के लिए कटिबद्ध नजर आए और उनकी मुहिम को सफल बनाया उनके अनुशासन ने।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned