जैसलमेर में नववर्ष के जश्न पर 'कोरोना कुंडली'

-संकट से उबर रहे पर्यटन को लग न जाए पाबंदी का झटका
-जैसलमेर में नए साल का जश्न मनाने सैलानियों के उमडऩे की आशा

By: Deepak Vyas

Updated: 24 Dec 2020, 09:51 AM IST

जैसलमेर. कोरोना महामारी से सर्वाधिक प्रभावित जैसलमेर का पर्यटन दिवाली के बाद अब बीतते वर्ष में क्रिसमस से नववर्ष तक के एक सप्ताह को उम्मीद भरी निगाहों से निहार रहा है। इस अवसर पर हजारों की तादाद में देशी सैलानियों के जैसलमेर उमडऩे की उम्मीदें परवान पर है। इस बीच कोरोना की गाइडलाइन कहीं अवरोध बनकर होटल और रिसोर्ट व्यवसायियों की आशाओं पर पानी न फेर दें, इसको लेकर संबंधित व्यवसायियों में चिंता व्याप्त हो गई है। गौरतलब है कि राज्य सरकार ने किसी भी समारोह में 100 से ज्यादा लोगों के एक साथ उपस्थित होने पर रोक लगा रखी है। गत दिनों शादियों की सीजन में प्रशासन की टीमों ने कई जगहों पर दस्तक देकर सीमा से अधिक लोगों की मौजूदगी व कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं करने को लेकर आयोजकों से हजारों रुपए का जुर्माना वसूल किया था।
मुखिया की बात ने आशंकित किया
पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने नववर्ष के अवसर पर किसी तरह की आतिशबाजी नहीं करने के साथ ही लोगों को घर में रहकर नया साल मनाने की जो सलाह दीए उससे पर्यटन व्यवसायियों के ललाट पर चिंता की लकीरें खिंच गई हैं। नववर्ष के अवसर पर जैसलमेर में हजारों सैलानियों के आगमन की संभावनाओं को लेकर होटलों और रिसोट्र्स आदि में तैयारियां की जा रही हैं। अब संबंधित लोगों को यह चिंता सता रही है कि पहले से पिटे सीजन में कहीं उनकी ओर से किया जा रहा तैयारियों पर खर्च गले न पड़ जाए। जानकारों की मानें तो शादी समारोहों के मुकाबले होटलों व रिसोट्र्स में नए साल के जश्न का मसला इस मायने में अलग है किए इन स्थानों पर 30 से लेकर 100 तक कमरे होते हैं। ऐसे में जो भी भीड़ होगी, वह स्थान के अनुपात में इतनी ज्यादा नहीं होगी, जिससे सोशल डिस्टेंसिंग का नियम टूटे। इसके साथ ही जैसलमेर घूमने आने वाले सैलानियों के लिए नए साल का स्वागत करने के इंतजाम करना व्यावसायिक और अतिथियों की सेवा करने के लिहाज से जरूरी है।
राहत यह भी: मुसीबत नहीं बना पर्यटन
जैसलमेर में पर्यटन से कोरोना प्रसार की आशंकाएं अब तक निर्मूल ही साबित हुई है क्योंकि होटल और रिसोट्र्स आदि में कार्य करने वालों के कहीं से असामान्य ढंग से संक्रमित होने की जानकारियां सामने नहीं आई है। व्यवसायियों का यह भी दावा है कि वे सरकारी गाइडलाइन की पूरी तरह से पालना करते हुए मेहमानों के खाने.पीने व ठहराव आदि की व्यवस्थाएं करते हैं।

फैक्ट फाइल -
-250 से ज्यादा होटलें जैसलमेर में
-100 से अधिक रिसोट्र्स सम सेंड ड्यून्स पर
-50 हजार सैलानियों के आगमन की संभावना

अभी कोई गाइडलाइन नहीं
होटलों आदि में नववर्ष के कार्यक्रमों के संबंध में अभी तक किसी तरह की गाइडलाइन नहीं आई है। सरकार के जो दिशा.निर्देश होंगेए उसके अनुरूप प्रशासन कार्रवाई करेगा। सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि में 100 लोगों से ज्यादा भागीदारी पर तो पाबंदी रहेगी।
-आशीष मोदी, जिला कलक्टर, जैसलमेर

सरकारी निर्देशों की कर रहे हैं पालना
कोरोना से बचाव के लिए सरकारी दिशा.निर्देशों की पर्यटन व्यवसायी अब तक पालना करते आए हैं। नववर्ष पर भी गाइडलाइन के अनुसार कार्य करेंगे।
-कैलाश व्यास, अध्यक्ष, सम रिसोट्र्स एंड कैम्प वेलफेयर सोसायटी

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned