corona karmvir: नहीं रुके यह मदद का सिलसिला

जैसलमेर. कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए जारी लॉकडाउन की स्थितियों के बीच घर बैठे विद्यार्थियों को उनके कक्षा स्तर और पाठ्यक्रम अनुसार ई-कटेंट मुहैया करवाया जाएगा। इस संबंध में सोशल मीडिया के माध्यम से उन तक पाठ्य सामग्री पहुंचाने के विभागीय प्रयास किए गए हैं।

By: Deepak Vyas

Published: 09 Apr 2020, 08:33 PM IST

जैसलमेर. कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए जारी लॉकडाउन की स्थितियों के बीच घर बैठे विद्यार्थियों को उनके कक्षा स्तर और पाठ्यक्रम अनुसार ई-कटेंट मुहैया करवाया जाएगा। इस संबंध में सोशल मीडिया के माध्यम से उन तक पाठ्य सामग्री पहुंचाने के विभागीय प्रयास किए गए हैं। इसके तहत सभी मुख्य ब्लॉक षिक्षा अधिकारियों को उनके अधीनस्थ पीइइओ एवं शहरी क्षेत्र में पाठ्य पुस्तक नोडल संस्था प्रधानों को क्षेत्र में अधीनस्थ शिक्षकों और अभिभावकों के पृथक-पृथक दो प्रकार के वाट्सअप गु्रप बनाने के लिए पाबंद करने को कहा है। राज्य स्तर से प्रसारित ई-कटेंट की पहुंच अभिभावक के माध्यम से हर विद्यार्थी तक यह कंटेट भिजवाना होगा।
भामाशाहों के सहयोग से पहुंच रही है सहायता
चांधन. लोक डाउन के कारण प्रभावित चल रहे परिवारों को राहत पहुंचाने का काम कस्बे मे भी सतत रूप से चालू है। जिला प्रशासन के आदेश से गठित कोर ग्रुप ने अब पीडि़त परिवारों को राहत पहुंचाने का काम शुरू कर दिया है। कोर गु्रप की ओर से ठहराए गए बाहरी मजदूरों को राशन सामग्री वितरित की गई। कस्बे के मरुस्थलीय छात्रावास को वर्तमान मे अस्थायी आश्रय स्थल बनाया हुआ है। यहां रोके गए परिवारों को सूखी राशन सामग्री उपलब्ध कराई गई। चांधन पीइइओ पवन कुमार वर्मा, लाठी थानाधिकारी ओमप्रकाश चौधरी, ग्राम विकास अधिकारी झबरसिंह और ग्राम सहायक ओम प्रकाश ने अस्थायी शिविर पहुंच कर सहायता सामग्री उपलब्ध कराई। कोर कमेटी की ओर से इसके अतिरिक्त कस्बे के सात अन्य परिवारों को भी राशन उपलब्ध कराया। लाठी थानाधिकारी ने श्रमिकों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned