Jaisalmer- राहगीर कृपया ध्यान दें- जैसलमेर शहर की इस सडक़ पर है हादसे की आशंका

सडक़ों का हिस्सा बन गए डिवाइडर, हादसों की हर पल आशंका
- जैसलमेर शहर के अनेक व्यस्त मार्गों में सडक़ों का लेवल डिवाइडर के बराबर

By: jitendra changani

Published: 28 Nov 2017, 09:00 AM IST

व्यस्त मार्गों पर यह अनदेखी आमजन के लिए खतरनाक

जैसलमेर . व्यस्त और चौड़ी सडक़ों पर डिवाइडर का निर्माण सुरक्षित व सुविधाजनक यातायात के लिए करवाया जाता है, लेकिन जैसलमेर शहर में ऐसे कई अहम मार्ग हैं, जिनका लेवल दिनोंदिन ऊंचा हो जाने से वे डिवाइडर के बराबर हो चुके हैं। इन मार्गों पर हर समय सडक़ हादसों का भय बना रहता है। जबकि जिम्मेदारों को इससे मानो कोई सरोकार ही नहीं रहा।
यहां के हालात चिंताजनक
शहर के ट्रांसपोर्ट नगर चौराहा में सडक़ निर्माण के दौरान सडक़ इतनी ऊंची हो गई है कि वहां के बने डिवाइडर व सडक़ एक ही लेवल पर आ गए। ऐसे में यहां से निकलने वाले दुपहिया वाहन बेरोकटोक सीधे डिवाइडर के ऊपर से निकल लेते हैं। ऐसे में किसी हादसे की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता।


पीपुल्स वॉइस -
सडक़ बनाते समय ध्यान नहीं दिया जाता। आए दिन सडक़ हादसे होते रहते हैं। नगरपरिषद को तुरंत प्रभाव से डिवाइडर का नवनिर्माण करवाकर उन्हें सडक़ से ऊंचा करवाना चाहिए।
- अशोक लिम्मा, व्यवसायी
इस स्थान से भील बस्ती व आसपास के इलाके के लोगों का आना-जाना रहता है। भील बस्ती के बच्चे भी पार्क में खेलने जाते हैं। ऐसे में बाइक सवारों का डिवाइडर के ऊपर से रोड कॉस करना, उनके व बच्चों दोनों के लिए खतरनाक है।
-गोरधनराम सूंडिया, सामाजिक कार्यकर्ता
ट्रांसपोर्ट चौराहा की सडक़ जगह जगह से टूट गई है और यहां से भारी वाहन निकलते रहते हैं। ऐसे में सडक़ टूटने की वजह से दिन भर इस चौराहे में धूल उड़ती रहती है। चौराहा अब पूरा गंदा व क्षतिग्रस्त-सा हो गया है। भारी वाहन भी यहां से अब मुश्किल से गुजरते हैं।
-गुलदेश, भील बस्ती
एयरफोर्स व ट्रांसपोर्ट नगर चौराहों की सडक़ व डिवाइडर का लेवल एक होने किसी भी समय कोई हादसा हो सकता है। दुपहिया सवार जो यहां से डिवाइडर के ऊपर से जो रास्ता पार करते हैं सामने से आ रहे वाहन से कभी भी टकरा सकते हैं। ऐसे में यहां पर डिवाइडर व एयरफोर्स चौराहा की चौकी को तुरंत ऊंचा किया जाना चाहिए ताकि कोई हादसा न हो।
- ओमप्रकाश केवलिया, होटल व्यवसायी

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

एयरफोर्स चौराहा पर भी यही हाल
एयरफोर्स चौराहा की छतरी की गोल चौकी भी सडक़ के लगभग समान लेवल पर आ गई है। यहां सडक़ निर्माण के समय चौकी को ऊंचा नहीं किया गया। ऐसे में अब यह चौकी व सडक़ एक ही लेवल में आ गए हैं। इस चौराहे में रात में काफी अंधेरा रहता है कई बार बाइक सवार इस चौकी पर असंतुलित होकर चढ़ जाते हैं। जो जानलेवा भी साबित हो सकता है।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

बच्चों की जान खतरे में
इस स्थान के ठीक सामने और आरपी कालोनी के पार्क के समक्ष, जहां सडक़ व डिवाइडर एक ही लेवल में आ गए यहां से ही बस्ती वालों का और स्कूली बच्चों का आवागमन रहता है, लेकिन वाहन चलाने वाले इस बात का ध्यान नहीं रखते। वे शॉर्टकट के चक्कर में डिवाइडर के ऊपर से वाहन निकाल स्वयं और दूसरों की जान को खतरे में डाल रहे हैं। चौराहे में डिवाइडर व सडक़ के समान धरातल के अलावा यहां चौराहे के चारों तरफ से सडक़ उधड़ी हुई है। जगह-जगह गड्ढ़े बन गए हैं। ऐसे में यहां से भारी वाहनों के निकलने में काफी कठिनाई हो रही है। लाइम स्टोन व पत्थर के भारी ब्लॉक आदि से भरे ट्रक भी यहीं से निकलते हैं जो हादसे का शिकार हो सकते हैं। सडक़ उधडऩे से सडक़ की कंकरीट व मिट्टी निकल आई इस कारण कई बाइक रपटने के हादसे हो चुके हैं।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned