Jaisalmer me मौत की पहेली... बीमारी से नहीं बल्कि हादसे में हुई पक्षियों की मौत!

By: jitendra changani

Published: 10 Dec 2017, 12:06 PM IST

Jaisalmer, Rajasthan, India

Rajasthan patrika

1/5

29 से शुरू हुआ शवों के मिलने का सिलसिला 29 दिसंबर पोकरण क्षेत्र के लाठी, धोलिया, चाचा, ओढाणिया, भादरिया व चांधन रेलवे पटरियों के पास करीब डेढ़ दर्जन दुर्लभ प्रजाति के गिद्ध व एक अन्य पक्षी का शव मिला। 7 दिसंबर- रेलवे ट्रेक के दोनों तरफ 14 गिद्ध व एक बाज का शव मिला। 8 दिसम्बर- लाठी गांव में रेलवे स्टेशन के पास 50 कौवे, 5 श्वान व 1 भेड़ का शव मिला।

पोकरण (जैसलमेर). क्षेत्र के लाठी, ओढाणिया, चाचा, भादरिया, धोलिया आदि गांवों के पास गत एक पखवाड़े में लगातार तीन बार अलग-अलग गिद्ध सहित पक्षियों के शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। वन, वन्यजीव एवं पर्यावरण विभाग के अधिकारी पक्षियों की मौत के कारणों की अभी पुष्टि नहीं कर रहे है, लेकिन उनकी ओर से यह भी बताया जा रहा है कि इन पक्षियों की मौत किसी बीमारी से नहीं, बल्कि दुर्घटना हो सकती है। फिलहाल पक्षियों का पशु चिकित्सकों से पोस्टमार्टम करवाया गया है तथा मांस, रक्त व अंगों के नमूने लेकर विधि विज्ञान प्रयोगशाला में उनकी एफएसएल जांच के लिए भी भिजवाया गया है। उधर, वन्यजीव, पर्यावरणप्रेमी व ग्रामीण पक्षियों में किसी बड़ी बीमारी व उनसे संक्रमण को लेकर चिंतित नजर आ रहे है। विगत 10 दिन में एक ही क्षेत्र में करीब 100 पक्षियों की अकाल मृत्यु हो जाने से वन्यजीव विभाग में भी खलबली मच गई। हालांकि उनकी ओर से वन्यजीव अधिनियम के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कर जांच की जा रही है। वन्यप्रेमियों एवं ग्रामीणों में पक्षियों की मौत को लेकर चिंताएं बढ़ गई है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned