दीपावली की तैयारियां जोरों पर, सजने लगी दुकानें

दीपावली की तैयारियां जोरों पर
- सजने लगी दुकानें

By: Deepak Vyas

Published: 13 Nov 2020, 09:03 PM IST


पोकरण. क्षेत्र में शुक्रवार से शुरू होने वाले दीपावली के चार दिवसीय त्यौहार को लेकर कस्बे सहित आसपास के क्षेत्र में तैयारियां जोरों पर चल रही है। लोग अपने घरों की सफाई, रंगाई, पुताई कर आकर्षक रूप से सजावट में लगे हुए है। इसके अलावा दुकानदार अपनी दुकानों में विक्रय के लिए नई-नई सामग्री सजाकर ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित करने में लगे हुए है। कस्बे के सदर बाजार, फोर्ट रोड व व्यास सर्किल सहित मुख्य बाजारों में फर्नीचर, इलेक्ट्रोनिक सामान, सोने, चांदी, बर्तन, दुपहिया वाहन आदि की दुकानें सजने लगी है तथा जयनारायण व्यास सर्किल व राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित होटलों पर भी आकर्षक रोशनी कर उन्हें सजाया गया है। दुकानदार व कंपनियां आकर्षक इनामी योजना चलाकर अपने उत्पाद को बेचने का प्रयास कर रही है। यहां ग्राहकों की भी चहल पहल देखने को मिल रही है।
नगरपालिका करवा रही सफाई
कस्बे में दीपावली के त्यौहार को देखते हुए नगरपालिका की ओर से रोड लाइटों को दुरस्त कर रोशनी व्यवस्था को सुधारने का कार्य किया गया है। नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी तौफिक अहमद ने बताया कि कस्बे के मुख्य मार्गों, गांधी चौक, स्टेशन रोड, बस स्टैण्ड पर लगी हाई मास्ट लाइटों को ठीक करवाकर रोशनी व्यवस्था को सुचारु किया गया। इसके अलावा कस्बे के विभिन्न मोहल्लों में सफाई व्यवस्था को भी अतिरिक्त सफाई कर्मचारी लगाए गए है।
सुरक्षा व्यवस्था रहेगी चाक चौबंद
पुलिस की ओर से दीपावली के त्यौहार को देखते हुए गश्त बढ़ाई गई है। थानाधिकारी माणकराम विश्रोई ने बताया कि क्षेत्र में गश्त बढ़ाई गई है तथा प्रत्येक गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि दीपावली के त्यौहार पर पूरी तरह से कानून एवं शांति व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए प्रयास किए जा रहे है। भीड़ भाड़ भरे क्षेत्रों में सादे वस्त्रों में पुलिसकर्मी तैनात किए जा रहे है। इसके अलावा पुलिसकर्मी राउण्ड-द-क्लॉक अलग-अलग जगहों पर गश्त कर रहे है। उन्होंने बताया कि कस्बे के भीड़ भाड़ भरे स्थलों पर यातायात पुलिसकर्मी तैनात कर यातायात व्यवस्था सुचारु करने का कार्य किया जा रहा है।
बिक रहे है मिट्टी के दीपक, प्रतिमाएं व खिलौने
कस्बे में स्थानीय कुंभकार समाज की ओर से लाल मिट्टी से दीपक, गणेश, लक्ष्मी, सरस्वती व अन्य देवी देवताओं की प्रतिमाएं तथा मिट्टी के गुल्लक व खिलौने बनाए जाते है। कस्बे में आज भी मिट्टी के दीपक व आकर्षक प्रतिमाओं व मिट्टी से निर्मित अन्य आईटम्स की मांग के चलते कुम्हार समाज के लोग हाथ ठेलों पर इन वस्तुओं को भी सजाकर घूम-घूमकर बेचने का कार्य करते है। कस्बे के मुख्य बाजारों, मुख्य मार्गों पर हाथ ठेलों पर सजे इस तरह के मिट्टी से हस्तनिर्मित दीपक, प्रतिमाएं व खिलौने भी स्थानीय लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र बने हुए है तथा लोग इनकी जमकर खरीदारी कर रहे है।
होटलें हुई रोशनी से गुलजार, नहीं लगी पटाखों की दुकानें
दीपावली के त्यौहार को देखते हुए कस्बे के जयनारायण व्यास सर्किल, फोर्ट रोड़ व जैसलमेर-जोधपुर रोड़ पर इलेक्ट्रोनिक सामान फ्रीज, टीवी, वाशिंग मशीन, फर्नीचर पलंग, सोफासेट, टेबल, कुर्सियोंं आदि की भी दुकानें जगह-जगह सजने लगी है। जिससे कस्बे में दीपावली की रोनक दिखाई दे रही है। इसी प्रकार कस्बे के मुख्य मार्गों पर स्थित छोटी बड़ी होटलों को भी आकर्षक रोशनी से सजाया गया है, जो स्थानीय लोगों व देशी विदेशी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र बनी हुई है। इस बार सरकार के निर्देशानुसार कोरोना संक्रमण की महामारी को देखते हुए कहीं पर भी पटाखों की दुकानें नहीं लगाई गई है।
लॉकडाउन का नजर आ रहा है असर
इस वर्ष पूरे विश्व में कोरोना संक्रमण की महामारी चल रही है। गत मार्च माह में देशभर में लॉकडाउन कर दिया गया था तथा करीब चार महिने तक पूरा देश बंद रहा। जिसका असर देश की आर्थिक स्थिति पर पड़ा। महामारी व लॉकडाउन के कारण बाहरी पर्यटकों की आवक नगण्य रही। धार्मिक स्थलों व पर्यटन स्थलों के बंद होने के कारण कई लोगों का रोजगार छिन गया। इस बार दीपावली के माके पर महामारी का असर भी साफ नजर आ रहा है तथा ग्राहकी पर भी असर पड़ा है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned