परमाणु नीति पर बोले रक्षामंत्री -'हालात पर निर्भर करेगा कि आगे क्या होगा'

परमाणु नीति पर बोले रक्षामंत्री -'हालात पर निर्भर करेगा कि आगे क्या होगा'

Deepak Vyas | Updated: 16 Aug 2019, 04:07:41 PM (IST) Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

रक्षामंत्री राजनाथसिंह ने शुक्रवार को रूस के साथ दशकों पुराने प्रगाढ़ संबंधों को याद किया और चीन का भी जिक्र किया। उन्होंने शुक्रवार को जैसलमेर सैन्य स्टेशन में आयोजित समापन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की। उन्होंने कहा कि रुस के साथ हमारे लंबे समय से प्रगाढ़ और स्ट्रेटजिक रिलेशन रहे है। चीन के साथ बाइलिट्रल एक्सरसाइज में भी भारत भागीदारी करता है और ऐसे में एक-दूसरे को अच्छी अच्छी तरह से समझने में मदद मिलती है।

जैसलमेर. रक्षामंत्री राजनाथसिंह ने शुक्रवार को रूस के साथ दशकों पुराने प्रगाढ़ संबंधों को याद किया और चीन का भी जिक्र किया। उन्होंने शुक्रवार को जैसलमेर सैन्य स्टेशन में आयोजित समापन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की। उन्होंने कहा कि रुस के साथ हमारे लंबे समय से प्रगाढ़ और स्ट्रेटजिक रिलेशन रहे है। चीन के साथ बाइलिट्रल एक्सरसाइज में भी भारत भागीदारी करता है और ऐसे में एक-दूसरे को अच्छी अच्छी तरह से समझने में मदद मिलती है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि मध्य एशिया के सभी देशों के साथ एतिहासिक संबंध सदा से रहे हैं, जिसमें व्यापारिक व सांस्कृतिक रिश्ते भी शामिल है। सभी आपसी सहयोग बढ़ाकर दुनिया की कठिन चुनौतियों व खतरों का मुकाबला कर सकेंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में भी इस तरह के संबंध बढ़ाने में और मदद मिलेगी। उन्होंने जैसलमेर में सैन्य कार्यक्रम में भाग लेने आए रक्षामंत्री राजनाथसिंह ने परमाणु नीति पर भी अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि भारत की परमाणु नीति नो फस्र्ट यूज की रही है। पाकिस्तान की तरफ से हो रही बयानबाजी के बीच उन्होंने कहा कि भविष्य में क्या होगा, यह सब हालातें पर निर्भर करेगा। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने अपने उद्बोद्धन की शुरुआत में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी पहली पुण्यतिथि पर याद किया। सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि यह उनकी खुशनसीबी है और संयोग भी है कि वे परमाणु परीक्षण वाले पोकरण की सरजमीं से वाजपेयी को याद कर रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned