अधूरी रह गई स्वर्णनगरी को निहारने की हसरत

अधूरी रह गई स्वर्णनगरी को निहारने की हसरत
अधूरी रह गई स्वर्णनगरी को निहारने की हसरत

Deepak Vyas | Updated: 06 Oct 2019, 05:27:26 PM (IST) Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

दर्द से कराहते जयपुर निवासी 12 वर्षीय आदित्यसिंह मायूस है कि स्वर्णनगरी में पटवा हवेली का नाम सुना था और आज उसे देखने का मन था। रुद्रांश राठौड़ बताते हैं कि वे सम के मखमली धोरों पर घूमना चाहता था, लेकिन बच्चों के ये अरमान इस सफर में पूरे नहीं हो पाए।

जैसलमेर/पोकरण. दर्द से कराहते जयपुर निवासी 12 वर्षीय आदित्यसिंह मायूस है कि स्वर्णनगरी में पटवा हवेली का नाम सुना था और आज उसे देखने का मन था। रुद्रांश राठौड़ बताते हैं कि वे सम के मखमली धोरों पर घूमना चाहता था, लेकिन बच्चों के ये अरमान इस सफर में पूरे नहीं हो पाए। शनिवार को सुबह पोकरण के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में उपचार करवा रहे नन्हे बच्चों के, जो एक निजी बस के पलट जाने के हादसे में घायल हो गए थे। गौरतलब हैै कि जयपुर की सेंट जैवियर्स स्कूल के 140 छात्र-छात्राएं तीन बसों में सवार होकर जैसलमेर भ्रमण के लिए जा रहे थे। जोधपुर-जैसलमेर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 125 बाईपास मार्ग पर टोल नाके से एक किमी दूर अचानक बस असंतुलित होकर पलट गई। जिससे उसमें सवार 22 छात्र छात्राएं व तीन शिक्षक घायल हो गए। जिनका स्थानीय राजकीय अस्पताल में उपचार किया गया।
दर्द से कराह उठे बच्चे
दुर्घटना सुबह करीब साढ़े पांच बजे हुई। इस दौरान अधिकांश बच्चे गहरी नींद में थे। अचानक हादसे से छोटे बच्चे सहम गए। किसी बच्चे के मुंह पर चोट लगी थी, किसी के सिर में, तो किसी हाथ व पांव पर। ऐसे में बस में सवार करीब 40 बच्चे दर्द से कराह रहे थे। विशेष रूप से 22 बच्चे व तीन शिक्षक ही घायल हुए। अस्पताल में उपचार के दौरान बच्चों का दर्द से बेहाल हो रहा था। यहां उपस्थित चिकित्सकों ने बच्चों का उपचार किया।
पुलिस ने बच्चों को संभाला
जयपुर से रवाना होने के बाद बस सुबह साढ़े पांच बजे पोकरण पहुंची और दुर्घटनाग्रस्त हो गई। पौने छह बजे 108 एम्बुलेंंस से घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। इस दौरान सूचना मिलते ही पुलिस उपाधीक्षक मोटाराम गोदारा व थानाधिकारी सुरेन्द्रकुमार मय जाब्ता अस्पताल पहुंच गए। उन्होंने तत्काल घायल बच्चों के उपचार में सहायता की और उनके लिए दवाइयां लाने में मदद की।
ये भी पहुंचे अस्पताल
दुर्घटना की सूचना मिलने पर उपखण्ड अधिकारी आकांक्षा बैरवा, तहसीलदार रामजस विश्रोई भी अस्पताल पहुंचे और उपचार कार्य का जायजा लिया। भाजपा के युवा नेता पंचायत समिति सदस्य आईदानसिंह भाटी भी अस्पताल पहुंचे। उन्होंने घायलों की कुशलक्षेम पूछी तथा छोटे बच्चों के लिए चाय नाश्ते की व्यवस्था की। समिति सदस्य भाटी घायल व अन्य सभी बच्चों व शिक्षकों को अपनी होटल लेकर गए और उनके विश्राम, चाय, नाश्ते की व्यवस्था की।
एसपी ने लिया जायजा
जयपुर की सैंट जेवियर्स स्कूल नामी स्कूूलों में शुमार है। यहां कई वीआईपी व वीवीआईपी लोगों के बच्चे अध्ययन करते है। दुर्घटना के बाद एकबारगी परिजनों में हडक़ंप मच गया और हर कोई पुलिस, प्रशासन व अपने परिचितों को फोन कर अपने बच्चों की कुशलक्षेम पूछ रहा था। दुर्घटना के बाद सुबह करीब 10 बजे जिला पुलिस अधीक्षक डॉ.किरण कंग सिधु भी पोकरण पहुंची। उन्होंने पोकरण में फलसूण्ड तिराहे पर स्थित भवानी पैलेस होटल में रुके सभी बच्चों व शिक्षकों से मुलाकात की। उन्होंने पुलिस उपाधीक्षक मोटाराम गोदारा व थानाधिकारी सुरेन्द्रकुमार के साथ घटनास्थल का मौका मुआयना किया।

फैक्ट फाइल ....
- 3 बसें शुक्रवार को जयपुर से हुई थी रवाना
- 140 बच्चे व 10 शिक्षक शामिल थे यात्रा में
- 38 बच्चों व तीन शिक्षक सवार थे पलटी बस में
- 5.30 बजे अल सुबह हुआ हादसा
- 2 बच्चों व 1 शिक्षक को किया गया जोधपुर रैफर

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned