JAISALMER NEWS- योग्यता से अधिक पचाना मुश्किल, ऐसे लोग बनते है अशांति के वाहक

योग्यता से अधिक कुछ मिलना पतन का कारण

By: jitendra changani

Published: 26 Mar 2018, 10:40 AM IST

गांधी कॉलोनी स्थित खत्री समाज भवन में चल रही भागवत कथा
जैसलमेर . गांधी कॉलोनी स्थित खत्री समाज भवन में चल रही श्रीमद्भागवत कथा के विश्राम दिवस की कथा जारी है। इसमें कथावाचक शैलेन्द्र व्यास ने कहा कि जीवन में दान की गई वस्तु का स्वयं उपयोग नहीं करें। उन्होंने कहा कि राजा नृग ने दान की गई गाय का पुन: उपयोग में लेने के ब्राह्मणों से श्रापित होना पड़ा। ऐसे में उसे गिरगिट की योनी में जन्म लेना पड़ा। भगवान श्रीकृष्ण के अद्भुत ग्रहस्थ का दर्षन नारद जी महाराज द्वारा करने के प्रसंग को सुनाते हुए बताया कि भगवान द्वारा जब सम्पूर्ण सृष्टि का संचालन इतना सुंदर चल रहा है तो फिर 16108 रानीयों के साथ ग्रहस्थ को चलना तो प्रभु के लिए कौन सी बडी बात थी।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

श्रीकृष्ण द्वारा भीम के द्वारा जरासंध का वध करवाना, धर्मराज युधिष्ठर के यज्ञ को पूर्ण करवाना तथा उसी यज्ञ में षिषुपाल का श्रीकृष्ण द्वारा वध करने की कथा को सुनाया गया। भगवान की भक्ति, भगवान को प्राप्त करने के लिए ही होनी चाहिए न की भगवान से भोग प्राप्त करने के लिए यदि अपने ईष्ट के आगे अपने कष्ट को सुनाया जाए तो उससे उन्हे ही कष्ट होता है यही विचार कर श्रीकृष्ण के परम मित्र श्री सुदामा जी ने श्रीकृष्ण भगवान को कभी भी अपनी गरीबी को नही सुनाया जीवन पूरा कष्ट के बीत रहा था परन्तु कभी भी अपना कष्ट नही सुनाया, केवल उन्ही को प्राप्त करने के लिए उनके दर्षन के लिए द्वारिका पधारे और श्री द्वारकाधीष ने बिना कुछ मांगे सब कुछ दे दिया। सुदामा चरित्र की कथा प्रसंग को विस्तार से सुनाते हुए इस चरित्र की षिक्षा को जीवन में उतारने के महत्व को समझाया गया।
व्यक्ति को यदि उसकी योग्यता से अधिक कभी कुछ मिल जाता है तो वह उसके पतन का कारण बन जाता है। उस व्यक्ति को मिली वस्तु का उपयोग या उपभोग कैसे करना है, यह ज्ञान नहीं होता। ऐसे ही भस्मासुर को किसी को भी भस्म करने का वरदान मिला, लेकिन वह स्वयं जलकर भस्म हो गया। अत: प्रत्येक कार्य करने से पूर्व विवेक विचारना चाहिए।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned