JAISALMER NEWS- रामसरोवर की पाळ के नीचे नरक के, तो इन गांवों में ग्रामीणों को हुए स्वर्ण के दर्शन

By: jitendra changani

Updated: 24 Mar 2018, 09:46 PM IST

Jaisalmer, Rajasthan, India

Rajasthan patrika

1/4

रामसरोवर के आगोर में जमा कचरा व गंदगी रामदेवरा . ग्राम पंचायत की ओर से कस्बे की सफाई करने के पश्चात गंदगी व मलबा रामसरोवर तालाब के बरसाती पानी के बहाव क्षेत्र में डाला जा रहा है। इससे रामसरोवर तालाब का पानी प्रदूषित हो रहा है। इससे श्रद्धालुओं की भावना आहत हो रही है। गांव में प्रतिदिन सफाई करने के पश्चात् गंदगी व मलबा सफाई कर्मचारियों की ओर से उठाकर टै्रक्टर ट्रोली में डालकर गांव से बाहर फिकवाया जाता है, लेकिन कुछ समय से रामसरोवर तालाब के आगोर व बरसाती पानी के बहाव क्षेत्र में कूड़ा फेंकने से आसपास का वातावरण दूषित हो रहा है। बरसात के दिनों में यही गंदगी रामसरोवर में आ जाती है। इससे इसका पानी भी दूषित हो रहा है।

जैसलमेर . सरहदी जैसलमेर जिले के तीन अलग-अलग गांवों में अलग अहसास हुआ। जग विख्यात रामदेवरा मंदिर के पीछे स्थित रामसरोवर तीथ की पाळ के नीचे जमा कचरा जहां यहां आने वाले श्रद्धालुओं को बदबू व असहज महसूस करवा रहा है, वहीं मोहनगढ़ व लाठी में इन दिनों चल रही रामकथा के दौरान यहां का माहौल भक्तिमय होने से सुकून और शांति प्रदान कर रहा है। रामदेवरा में रामसरोवर की पाळ के नीचे कचरा जमा होने से आमजन के साथ यहां बाबा के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को दुविधा हो रही है। साथ ही में मच्छरों की तादाद बढऩे से बीमारियां फैलने की आशंका गहरा गई है, लेकिन जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहे।

श्रद्धालुओं की आवक से चहल-पहल
रामदेवरा . गांव में चैत्र शुक्ल षष्ठी को श्रद्धालुओं की खासी भीड़ उमड़ी। देश के कोने-कोने से आए सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने बाबा रामदेव की समाधि के दर्शन किए। शुक्रवार को जोधपुर , पाली, जयपुर , दिल्ली सहित अन्य राज्यों से सैंकड़ों की तादाद में श्रद्धालु रामदेवरा पहुंचे। उन्होंने बाबा रामदेव की समाधि के दर्शन कर रामसरोवर, परचा बावड़ी, झूला पालना आदि का भ्रमण किया तथा बाजार से जमकर खरीदारी की।

 

 

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned