JAISALMER NEWS- स्वास्थ्य विभाग की गलती से नर्स बन रही महिलाओं की ऐसे कट रही रातें

By: jitendra changani

Published: 23 Feb 2018, 11:11 PM IST

Jaisalmer, Rajasthan, India

Rajasthan patrika

1/2

District nursing training center and hostel for two days

-जिला नर्सिंग प्रशिक्षण केंद्र और हॉस्टल दो दिन से बत्ती गुल

जैसलमेर . चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महकमे के अधिकारियों की लापरवाही की गाज नर्सिंग का प्रशिक्षण लेने वाली छात्राओं पर गिरी है।उन्हें दो दिन-रात से ज्यादा समय तक अंधेरे, गर्मी और मच्छरों से मुकाबला करते हुए समय बिताना पड़ा।विभागीय अधिकारियों से निराशा मिलने के बाद इन नर्सिंग प्रशिक्षणार्थियों ने शुक्रवार को जिला कलक्टर के पास पहुंचकर अपनी पीड़ा का इजहार किया।कलक्टर ने मामले की जानकारी लेकर संबंधित अधिकारियों को लताड़ लगाई।दूसरी ओर विभागीय अधिकारी इसकी जिम्मेदारी चिकित्सा निदेशालय पर डालने में तत्पर नजर आए।साथ ही उन्होंने बकाया राशि का भुगतान नहीं करने पर विद्युत संबंध विच्छेद करने वाले डिस्कॉम पर भी गलत बिलिंग करने आदि के आरोप मढ़ दिए।जबकि डिस्कॉम प्रशासन का कहना है कि कई बार अधिकारी स्तर से बकाया का भुगतान करने के लिए कहे जाने के बावजूद चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महकमे के अधिकारी लापरवाही का प्रदर्शन करते रहे।
बीमार पड़ रही छात्राएं
बिजली जैसी बुनियादी सुविधा से वंचित नर्सिंग छात्राओं ने जब विभागीय स्तर पर सुनवाई नहीं हुई तो हार कर शुक्रवार को जिला कलक्टर की शरण ली।इस दौरान वे बेहद आक्रोशित नजर आईं।उन्होंने बताया कि बिजली नहीं होने से उनकी परीक्षा टाल दी गई तथा दो रातें उन्होंने गर्मी के चलते जाग कर काटी।इस दौरान मच्छरों ने भी उनका हॉस्टल में रहना मुहाल कर दिया।छात्राओं ने यहां तक बताया कि गर्मी व मच्छरों के काटने से करीब 10 छात्राएं बीमार पड़ गई हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा है।छात्राओं ने यह भी बताया कि बिजली कनेक्शन विच्छेद होने से उन्हें होने वाली समस्याओं से सभी विभागीय जिम्मेदारों को अवगत करवाने के बावजूद उनकी सुनवाई नहीं हुई।तब वे जिला कलक्टर के पास गुहार लेकर आई हैं।
कनेक्शन तो पहले ही कट चुका
जानकारी के अनुसार जिला नर्सिंग प्रशिक्षण केन्द्र एवं नर्सेज हॉस्टल में करीब आठ लाख रुपए का बिजली का बिल चढ़ा हुआ है।लम्बे समय से बिल का भुगतान नहीं किए जाने और चेतावनी देने के बावजूद सक्रिय नहीं होने के चलते डिस्कॉम ने करीब डेढ़ माह पहले उक्त भवन का कनेक्शन विच्छेद कर दिया।विभागीय अधिकारी तब भी नहीं चेते और कार्यालय के दूसरे कनेक्शन से नियम विरुद्धबिजली लेकर काम चलाते रहे।डिस्कॉम ने गत दिनों इस संबंध में जानकारी मिलने के बाद उस दूसरे कनेक्शन को भी काट दिया और जुर्माने की शीट भर कर थमा दी।
अब जाकर जागे जिम्मेदार
करीब तीन दिनों तक नर्सिंग छात्राओं के परेशान होने और मामला कलक्टर की चौखट तक पहुंचने के बाद चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महकमे के अधिकारी शुक्रवार को हरकत में आए।जिला कलक्टर ने इतना लम्बा विद्युत शुल्क बकाया होने के संबंध में तलब किया तो उन्होंने बताया कि विद्युत बिलों के बारे में निदेशालय को जानकारी कराई गई है, लेकिन वहां से भुगतान के लिए राशि नहीं आई।सीएमएचओ डॉ. एनआर नायक ने बताया कि आगामी दो-तीन में बकाया राशि का कुछहिस्सा जमा करवाने तथा मार्च माह तक सारा बकाया जमा करवाने की अंडरटेकिंग दी जा रही है।जिससे कनेक्शन जुड़वाया जा सके।उन्होंने माना कि, इस मामले में संबंधित अधिकारियों की लापरवाही तो रही है।

फैक्ट फाइल-
-90 छात्राएं ले रही आवासीय प्रशिक्षण
-08 लाख रुपए का लगभग बिजली शुल्क बकाया
-60 घंटे से ज्यादा समय तक गुल रही बिजली

बार-बार कहा पर नहीं चेते
जिला नर्सिंग प्रशिक्षण केन्द्र एवं नर्सेज हॉस्टल का विद्युत बिल लम्बे समय से बकाया चल रहा है।इस संबंध में संबंधित अधिकारियों से कई बार भुगतान जमा करवाने के लिए कहा गया।आखिरकार संबंध विच्छेद करना पड़ा।उन्होंने नियम विरुद्धदूसरे कनेक्शन से बिजली ली, उसे भी विच्छेद कर शीट भरी गई।
-सीएस मीना, अधीक्षण अभियंता, डिस्कॉम, जैसलमेर

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned