पटाखे छोड़े, मिठाइयां बांटी और जयकारे भी लगाए

-हैदराबाद एनकाउंटर का युवाओं व महिलाओं ने किया समर्थन

जैसलमेर. हैदराबाद में महिला पशुचिकित्सक के साथ बलात्कार व हत्या करने चारों आरोपियों के पुलिस एंकाउटर में मारे जाने की घटना को सरहदी जिले में समर्थन मिला। महिलाओं और युवाओं ने मृतका को श्रद्धांजलि दी और जघन्य अपराध करने वाले आरोपियों को ऐसी ही सजा दिए जाने की पैरवी की। शहर के ढिब्बा पाड़ा में महिलाओं व युवाओं ने बलात्कार पीडि़ता को श्रद्धासुमन अर्पित किए। उन्होंने आरोपियों के एंकाउटर पर आतिशबाजी की और तेलंगाना पुलिस की प्रशंसा में नारेबाजी की। सामाजिक कार्यकर्ता सुधा व्यास और जॉली व्यास ने कहा कि महिला सुरक्षा के लिए कठोर कानून बनाना चाहिए। बलात्कार के आरोपियों को शीघ्र फांसी की सजा दी जानी चाहिए। तेलंगाना पुलिस ने बलात्कार पीडि़ता के साथ न्याय किया। पुलिस के जज्बे से प्रेरणा लेकर महिलाएं खुद अपनी सुरक्षा में खड़ी होगी। उधर, युवाओं ने कहा कि इस घटना के बाद बलात्कारियों में भय होगा, वहीं बलात्कार की घटनाओं पर लगाम लगेगी। इस तरह शहर के गफूर भट्टा स्थित निजी विद्यालय की शिक्षिकाओं ने एनकाउंटर का समर्थन किया। सरोज ने कहा महिला सुरक्षा के लिए अपराधियों के मन में कानून का खौफ रहना जरूरी है। इसी तरह अनिता बिस्सा ने कहा कि बलात्कार व हत्या के आरोपियों को कठोर सजा होनी चाहिए। इसी तरह किरण बिस्सा ने बताया कि देश में बलात्कार की बढती घटनाएं चिंताजनक है। महिला काजल ने भी बलात्कारियों को कठोर दंड देने की बात कही। महिला खेतु ने भी कहा कि पुलिस एंकाउटर में बलात्कार के आरोपियों की मौत से न्याय मिला है। उन्होंने कहा कि देश में न्यायिक प्रक्रिया में सुधार होना चाहिए। ऐसे आरोपियों की जल्दी सुुनवाई कर कठोर सजा दी जानी चाहिए, साथ ही सरकार को बलात्कार की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए कड़े कानून बनाने चाहिए।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned