सरहद पर नशे का कारोबार,रेव पार्टियों के लिए पहुंचाया जाता है नशा

पश्चिम राजस्थान के सरहदी क्षेत्र में पनप रहे नशे के कारोबार ने चिंता बढ़ा दी है। करीब साढ़े चार वर्ष पहले 45 करोड़ हेरोइन बरामदगी व आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद अब भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा के नजदीक स्थित रणजीतपुरा गांव में स्थित एक मकान में अवैध रुप से लाए गए 45 किलो डोडा पोस्त व 50 हजार प्रतिबंधित टेबलेट जब्त करने का मामला इन दिनों सुर्खियों में है।

जैसलमेर. पश्चिम राजस्थान के सरहदी क्षेत्र में पनप रहे नशे के कारोबार ने चिंता बढ़ा दी है। करीब साढ़े चार वर्ष पहले 45 करोड़ हेरोइन बरामदगी व आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद अब भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा के नजदीक स्थित रणजीतपुरा गांव में स्थित एक मकान में अवैध रुप से लाए गए 45 किलो डोडा पोस्त व 50 हजार प्रतिबंधित टेबलेट जब्त करने का मामला इन दिनों सुर्खियों में है। पुलिस व सरहदी चौकियां सतर्क हो गई है। सीमावर्ती क्षेत्रों में हाई अलर्ट कर दिया गया है। उधर, जानकारी यह भी मिली है कि मामले के खुलासे के बाद अब कई तस्कर गिरफ्तारी के भय से भूमिगत हो गए हैं। उधर, जांच एजेंसियां उक्त प्रकरण को लेकर महत्वपूर्ण जानकारियां खंगालने का प्रयास कर रही है।
रेव पार्टियों में पहुंचाया जा रहा नशा
सूत्र बताते हैं कि देश के पंजाब व दिल्ली क्षेत्रों में हेरोइन का बड़ा मार्केट है। सीमा पार से ये हेरोइन इन दोनों राज्यों में पहुंचाई जाई है। दिल्ली में आयोजित होने वाली रेव पार्टियों में इस हेरोइन में कुछ मिलावट कर करीब दस गुना कीमत में बेचा जाता है। यानि 5 करोड़ कीमत की हेराइन के बदले 50 करोड़ रुपए की आमदनी हो जाती है। पंजाब व दिल्ली में इस मादक पदार्थ का बड़ा मार्केट है और ये महंगा मादक नशा तलबगार अफगानियों तक पहुंचाया जाता है, जो इसका आदतन इस्तेमाल करते हैं। जैसलमेंर व बीकानेर से सटे सीमावर्ती इलाके में नशे का अवैध कारोबार पैर पसार रहा है। गत 26 नवम्बर को सीमा सुरक्षा बल की 57 वीं वाहिनी के जवानों व बज्जु पुलिस के साझा ऑपरेशन के दौरान जानकारी में यह बात समाने आ रही है कि रणजीतपुरा में स्थित एक मकान में अवैध रुप से भारी मात्रा में प्रतिबंधित नशीली दवाइयां व डोडा-पोस्त जैसलमेर व बीकानेर के कई इलाकों में आपूर्ति किया जाना था।

Deepak Vyas
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned