JAISALMER NEWS- करणी माता मंदिर में अनुष्ठान के दौरान हुआ कुछ ऐसा कि रोम-रोम हो गया प्रफुल्लित

धार्मिक कार्यक्रमों में उमड़ी श्रद्धा -करणी माता मंदिर दो दिवसीय पांचवां पाटोत्सव समारोह

By: jitendra changani

Published: 26 Apr 2018, 11:09 AM IST

रात्रि जागरण में बही सुरों की सरिता
पोकरण(जैसलमेर). करणी माता मंदिर का दो दिवसीय पांचवा पाटोत्सव समारोह मंगलवार व बुधवार को आयोजित किया गया। इसके अंतर्गत विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने शिरकत की। कस्बे के सूरजप्रोल में चारण छात्रावास में स्थित श्रीकरणी माता मंदिर का पांचवां पाटोत्सव समारोह चारण समाज विकास समिति व श्रीकरणी मंदिर सेवा समिति की ओर से आयोजित किया गया। बुधवार को अलसुबह पांच बजे मंगला आरती के साथ ही आचार्य पंडित गिरीराज पुरोहित, राजेश पुरोहित व मंदिर के पुजारी टीकमचंद शर्मा के सानिध्य में पूजा-अर्चना की गई। जिसमें पोकरण, ऊजला, माड़वा, बारठ का गांव, मेड़वा, ऊंचपदरा, ओढाणिया, पदरोड़ा, भाखरी, भीखोड़ाई, बोनाड़ा, सांगाबेरा, मदासर, कजोई सहित बाड़मेर, जैसलमेरजोधपुर जिलों के विभिन्न गांवों से आए सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने भाग लिया। इस अवसर पर मंदिर को आकर्षक फूल, मालाओं व रौशनी से सजाया गया।

Jaislamer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

यज्ञ का हुआ आयोजन
श्रीकरणी माता मंदिर के पाटोत्सव समारोह के अंतर्गत बुधवार को सुबह आठ बजे बाद नवगृह पूजन के साथ हवनात्मक यज्ञ का आयोजन किया गया। इस अवसर पर यजमान खीमसिंह उज्जवल, अर्जुनदान रतनू, हिंगलाजदान रतनू, गिरधरदान उज्जवल सहित उपस्थित श्रद्धालुओं ने अपनी ओर से यज्ञ में आहुतियां दी। करीब तीन घंटे तक चले हवनात्मक यज्ञ में श्रद्धालुओं ने हवन में आहुतियां दी तथा दिन भर मंदिर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। बुधवार दोपहर बाद तारातरा मठ के महंत प्रतापपुरी महाराज यहां पहुंचे। उन्होंने मंदिर में दर्शन किए। उन्होंने जीवन में विभिन्न तरह के अनुष्ठान करवाने पर प्रवचन किए तथा धर्म एवं संस्कृति की रक्षा के लिए गौसंरक्षण कर गौमाता को बचाने का आह्वान किया।
रात्रि जागरण में बही सुरों की सरिता
श्रीकरणी माता मंदिर पाटोत्सव के अवसर पर मंगलवार की रात्रि में जागरण का आयोजन किया गया, जिसमें प्रसिद्ध भजन गायक करणीधाम देशनोक के प्रसिद्ध भजन गायक गोविंददान देपावत, ईश्वरदान रतनू, राजेश उज्जवल ने रातभर देवी स्तुति, चिर्जाएं व भजनों की प्रस्तुतियां दी। जिस पर श्रोता भाव विभोर होकर नाचने लगे। बुधवार को सुबह छह बजे आरती के बाद जागरण का समापन हुआ।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika
Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned