आपातकालीन सेवा को कोरोना से बचाव की दरकार

-चालक-ईएमटी को नहीं दिया प्रशिक्षण तो सुरक्षा किट भी नहीं कराए मुहैया

By: Deepak Vyas

Published: 27 Mar 2020, 08:08 PM IST

भीखोड़ाई. आमजन को आपात एम्बुलेंस चलाने वाले चालक व ईएमटी भी सुरक्षित नहीं है। कारण यह है कि इन्हें ना तो प्रशिक्षित किया गया ना ही कोरोना सुरक्षा किटों से लैस है। गौरतलब है कि जिले सहित प्रदेश भर में कोरोना को लेकर लाकडाउन चल रहा है। आमजन कोरोना से खौफजदा हैं। एंबुलेंस हर तरह के मरीजों को 24 घंटे लाने व ले जाने का काम करती हैं। बावजूद इसके एंबुलेंस स्टाफ को प्रशिक्षण तक नहीं दिया गया। जिले भर में चल रही 14 गाडिय़ों में किसी को भी सुरक्षा किटों से लैस तक नहीं किया गया। ऐसे में यदि कोई कोरोना पॉजटिव मरीज को एंबुलेंस की ओर से ग्रामीण क्षेत्र से जिला मुख्यालय तक लाया गया तो संक्रमण फैलना स्वाभाविक है। ऐसे में अनजाने में यह वायरस अन्य मरीजों को भी अपनी गिरफ्त में ले सकता है। आपातकालीन सेवा 108 में ट्रिपल लेयर मास्क, हाथ धोने के लिए सेनेटाइजर, गाउन, सर्जिकल कैप, बाल्टी, मग वाशिंग पाउडर, हैंडवाश लिक्विड फिनायल के साथ ही बॉडी कवर पीपीई का अभाव है। ऐसे में एंबुलेंस कर्मी खौफ में काम करने को मजबूर है।
एयर कंडीशनर खराब
फलसूंड भणियाणा सहित जिले भर की एंबुलेंस में एयर कंडीशनर खराब है। ऐसे में गर्मी की दस्तक के चलते मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बावजूद जि़म्मेदारों को इससे कोई सरोकार नहीं दिख रहा है।

जयपुर से भिजवाएं है मास्क-दस्ताने
जिले भर की एंबुलेंस में पीपीइ कवर सीएमएचओ कार्यालय आए हुए हैं। दिलवा दिए जाएंगे। मास्क दस्ताने सहित किट जयपुर से कोरियर से भेजे गए हैं। आवागमन बंद होने के कारण देरी हुई है। जल्द सभी आपातकालीन एंबुलेंस पर उपलब्ध करवा दी जाएगी।
-जयदीप गुप्ता, प्रोग्राम मैनेजर आपातकालीन सेवा -108 बाड़मेर-जैसलमेर

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned