नकद भुगतान लेने पर जोर, किसान हो रहे परेशान

मोहनगढ़. एक तरफ सरकार डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा दे रही है, वही जैसलमेर सेण्ट्रल को ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड की ओर से बैंक से ही नगद भुगतान लेने का उपभोक्ताओं व किसानों को कहा जा रहा है।

By: Deepak Vyas

Published: 16 May 2020, 10:03 PM IST

मोहनगढ़. एक तरफ सरकार डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा दे रही है, वही जैसलमेर सेण्ट्रल को ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड की ओर से बैंक से ही नगद भुगतान लेने का उपभोक्ताओं व किसानों को कहा जा रहा है। इन दिनों कोरोना महामारी के चलते बैंके बाहर उपभोक्ताओं की भीड़ लगी रहती है। बताया जा रहा है कि कस्बे में संचालित बीसी को भी बंद कर दिया गया। ग्रामीणों की मानें तो मोहनगढ़ स्थित दी जैसलमेर सेण्ट्रल को ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड की शाखा में कभी सर्वर नहीं चलने की समस्या तो कभी नगदी नहीं होने की समस्या के चलते बैंक के उपभोक्ताओं व किसानों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। इन दिनों स्थिति यह है कि घंटों इंतजार करने के बाद भी ग्राहकों को नगद राशि का भुगतान नहीं हो पा रहा है। ऐसे में मनरेगा श्रमिकों को मनरेगा कार्यों का भुगतान नहीं हो पा रहा है, वहीं फसलों के लिए स्वीकृत ऋण राशि व बीमा क्लेम राशि का भुगतान नहीं हो पा रहा है। सूत्रों के अनुसार बैंकों में भीड़ को कम करने के लिए बैंकों की ओर से बीसी जारी की जा रही है, ताकि छोटे मोटे भुगतान ग्राहकों को घर के नजदीकी बीसी पॉइंट पर भुगतान मिल सके, लेकिन बताया जा रहा है कि जिले की सभी बीसी पॉईंट को बंद कर दिया गया है। बीसी से ग्राहक की ओर से नरेगा श्रमिक राशि खातें में खाता धारक की ओर से जमा राशि को निकालने पर सबसे पहले ऋण राशि ही निकल पाती है, जो कि बैंक के सॉफ्टवेयर द्वारा निर्धारित किया गया है। इसको बैंक का सॉफ्टवेयर ही निकालने की इजाजत देता है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned