खाद्य आपूर्ति मंत्री अचानक पहुंचे जवाहर चिकित्सालय,गंदगी और अव्यवस्थाएं देख बोले:'पीएमओ सा’ब...यह जानवरों का नहीं इंसानों का अस्पताल है'

खाद्य आपूर्ति मंत्री अचानक पहुंचे जवाहर चिकित्सालय,गंदगी और अव्यवस्थाएं देख बोले:'पीएमओ सा’ब...यह जानवरों का नहीं इंसानों का अस्पताल है'
खाद्य आपूर्ति मंत्री अचानक पहुंचे जवाहर चिकित्सालय,गंदगी और अव्यवस्थाएं बोले:'पीएमओ सा’ब...यह जानवरों का नहीं इंसानों का अस्पताल है'

Deepak Vyas | Updated: 16 Sep 2019, 11:39:43 AM (IST) Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

पीएमओ सा’ब...हमने आपका अस्पताल देख लिया है, आप यह समझ लो यह जानवरों का नहीं इंसानों का अस्पताल है। इतनी गंदगी तो पशुओं के चिकित्सालय में भी नहीं होती, जितनी यहां है...यह बात रविवार को जैसलमेर के जवाहर चिकित्सालय का अचानक निरीक्षण करने पहुंचे खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेशचंद मीना ने वहां व्याप्त व्यवस्थाओं पर रोष जताते हुए पीएमओ डॉ. जेआर पंवार से कही।

जैसलमेर. पीएमओ सा’ब...हमने आपका अस्पताल देख लिया है, आप यह समझ लो यह जानवरों का नहीं इंसानों का अस्पताल है। इतनी गंदगी तो पशुओं के चिकित्सालय में भी नहीं होती, जितनी यहां है...यह बात रविवार को जैसलमेर के जवाहर चिकित्सालय का अचानक निरीक्षण करने पहुंचे खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेशचंद मीना ने वहां व्याप्त व्यवस्थाओं पर रोष जताते हुए पीएमओ डॉ. जेआर पंवार से कही। जैसलमेर की यात्रा पर आए मंत्री ने कांग्रेस के अन्य नेताओं के साथ जिले के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल का निरीक्षण किया तथा लोगों से मिल रहे उपचार और अन्य सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। स्थितियों के निराशाजनक मिलने से मीना नाराज हो गए।
मुख्यमंत्री और चिकित्सा मंत्री को बताऊंगा हालात
खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेशचंद मीना ने अस्पताल के कई वार्डों का बारीकी से निरीक्षण किया। वहां भर्ती मरीजों और उनके रिश्तेदारों से मिल रहे इलाज की जानकारी ली। साथ ही अन्य बुनियादी सुविधाओं के बारे में पूछताछ की। उन्होंने शौचालयों और अस्पताल की दीवारों व यहां वहां फैली गंदगी पीएमओ को दिखाते हुए कहा कि, यह क्या हाल बना रखा है अस्पताल का? मीना ने कहा कि वे जयपुर जाकर इस संबंध में मुख्यमंत्री और चिकित्सा मंत्री से मिलेंगे और उन्हें सारी जानकारी देंगे। उन्होंने अस्पताल प्रशासन से कहा कि राज्य सरकार की साफ मंशा है कि अस्पतालों में मरीजों को बेहतरीन उपचार उपलब्ध हो। समय रहते व्यवस्थाओं में सुधार लाएं वरना एक्शन लिया जाएगा। अस्पताल व्यवस्थाओं पर जो बजट खर्च होता है, उसका भी हिसाब लिया जाएगा। मीना ने कहा कि इतनी अव्यवस्थाओं वाला अस्पताल उन्होंने अपने जीवन में कहीं नहीं देखा।
मिली थी शिकायतें
जानकारी के अनुसार सर्किट हाउस में जनसुनवाई के दौरान रविवार को मंत्री रमेशचंद मीना को कुछ लोगों ने जवाहर चिकित्सालय की अव्यवस्थाओं तथा समय पर उपचार नहीं मिलने के संबंध में शिकायत की थी। जिस पर उन्होंने परिवादियों से कहा कि वे अस्पताल पहुंचे, वे भी वहां आ रहे हैं। इसके बाद मीना जैसलमेर के पूर्व विधायक गोवद्र्धन कल्ला के निधन पर उनके परिजनों से मिलने गए और उन्हें ढांढस बंधाया। वहां से वे सीधे अस्पताल पहुंच गए। अस्पताल में कुछ लोगों ने मंत्री को समयबद्ध इलाज नहीं होने की व्यथा सुनाई। ऐसे मामलों में मंत्री ने पीएमओ से जवाब भी तलब किए। इस मौके पर जैसलमेर विधायक रूपाराम धणदे, जिला प्रमुख अंजना मेघवाल, जैसलमेर समिति के प्रधान अमरदीन फकीर, सम प्रधान उषा राठौड़, जिला कांग्रेस अध्यक्ष गोङ्क्षवद भार्गव, विकास व्यास, चंद्रशेखर पुरोहित आदि सहित सीएमएओ डॉ. बीके बारूपाल मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned