जिले के सभी न्यायालयों में 8 सितम्बर को लगेगी चतुर्थ राष्ट्रीय लोक अदालत

जिले के सभी न्यायालयों में 8 सितम्बर को लगेगी चतुर्थ राष्ट्रीय लोक अदालत

Deepak Vyas | Publish: Sep, 06 2018 05:49:10 PM (IST) Jaisalmer, Rajasthan, India

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार चतुर्थ राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 08 सितम्बर को होगा, जिसमें जिले के राजीनामा योग्य प्रकरणों की सुनवाई होगी।

जैसलमेर. राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार चतुर्थ राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 08 सितम्बर को होगा, जिसमें जिले के राजीनामा योग्य प्रकरणों की सुनवाई होगी।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव डॉ. महेन्द्र कुमार गोयल ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में प्री-लिटिगेशन और लम्बित प्रकरणों को समाहित करते हुए शमनीय दाण्डिक अपराध, धारा 138 परक्राम्य विलेख अधिनियम, बैंक रिकवरी मामले, एमएसीटी मामले, पारिवारिक विवाद, श्रम-विवाद, भूमि अधिग्रहण मामले, बिजली व पानी के बिल (अशमनीय को छोडकऱ) मामले, मजदूरी, भत्ते और पेंशन भत्तों से संबंधित सेवा मामले, राजस्व मामले (जिला न्यायालय एवं उच्च न्यायालय में लम्बित), अन्य सिविल मामले (किराया, सुखाधिकार, निषेधाज्ञा दावे एंव विनिर्दिष्ट पालना दावे) आदि का निस्तारण लोक अदालत के माध्यम से किया जाएगा। पक्षकार उक्त प्रकार के मामलों को राष्ट्रीय लोक अदालत में रखवाकर राजीनामा के माध्यम से उनका शीघ्र निस्तारण करवा सकते हैं। डॉ. गोयल ने बताया कि न्यायालयों में लम्बित प्रकरणों की सुनवाई के लिए जिला मुख्यालय एवं पोकरण मुख्यालय पर संबंधित न्यायालयों में लोक अदालत आयोजित होगी। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत के क्रियान्वयन के लिए न्याय क्षेत्र में 6 बैंचों का गठन किया गया है, जिसमें से 05 बैंचे संबंधित न्यायालयों में कार्य सम्पादित करेगी एवं प्रि लिटिगेशन स्टेज पर प्राप्त प्रकरणों की सुनवाई के लिए डॉ. महेन्द्र कुमार गोयल, पूर्णकालिक सचिव की अध्यक्षता में गठित बैंच जिला वैकल्पिक विवाद निस्तारण केन्द्र, सम रोड़, डाईट के पास, जैसलमेर में कार्य सम्पादित करेगी। लोक अदालत के प्रचार प्रसार के लिए लाउडस्पीकर टैक्सी को पूर्णकालिक सचिव डॉ. महेन्द्रकुमार गोयल ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। लाउडस्पीकर टैक्सी ने पूरे शहर में घूम-घूमकर राष्ट्रीय लोक अदालत का प्रचार प्रसार किया और लोगों को पेम्फलेट्स वितरित किए।

अनुज्ञापत्र धारियों को पुलिस थाने में जमा कराने होंगे शस्त्र
जैसलमेर. अनुज्ञापत्र धारियों को अपने शस्त्र संबंधित पुलिस थाने में जमा कराने होंगे। जिले में शान्ति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने तथा किसी प्रकार की हिंसात्मक गतिविधियों को नियंत्रित करने एवं विभिन्न वर्गो समुदायों के बीच तनाव एवं टकराव होने की संभावना का ध्यान में रखते हुए जिला कलक्टर ओम कसेरा ने जिले के सभी शस्त्र अनुज्ञापत्र धारियों के शस्त्र तत्काल प्रभाव से संबंधित पुलिस स्टेशन में जमा कराने को कहा है। उन्होंने बताया कि यह आदेश सीमा सुरक्षा बल, अद्र्धसैनिक बल, सशस्त्र पुलिस, सिविल डिफेन्स, होमगार्ड, बैंक के सुरक्षा गार्ड, केन्द्र व राज्य सरकार के उन कर्मचारियों पर लागू नहीं होगें, जो की कानून व्यवस्था के संबंध में अपने पास हथियार रखने को अधिकृत हो अथवा जिन्हें इसके लिए पृथक से अनुमति प्रदान की गई हो। उन्होंने संबंधित थानाधिकारी को शस्त्र अनुज्ञापत्र धारियों के शस्त्रों को तत्काल संबंधित पुलिस थाने में जमा कराने को कहा है। आदेश की अवमानना करने वाले शस्त्र अनुज्ञापत्र धारियों के शस्त्र अनुज्ञापत्रों को निरस्त कर हथियान जब्त कर लिए जाएंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned