scriptHemu Kalani's martyrdom day celebrated with pomp | ‘देश की स्वतंत्रता शहीदों की धरोहर, इसकी रक्षा करना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य’ | Patrika News

‘देश की स्वतंत्रता शहीदों की धरोहर, इसकी रक्षा करना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य’

locationजैसलमेरPublished: Jan 22, 2024 08:15:51 pm

Submitted by:

Deepak Vyas

-सिन्ध प्रदेश के अमर शहीद हेमू कालानी का बलिदान दिवस समारोह पूर्वक मनाया

 

‘देश की स्वतंत्रता शहीदों की धरोहर, इसकी रक्षा करना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य’
‘देश की स्वतंत्रता शहीदों की धरोहर, इसकी रक्षा करना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य’

भारतीय सिन्धु सभा इकाई जैसलमेर के तत्वाधान में सिंध प्रदेश के अमर शहीद हेमू कालानी का 80 वां बलिदान दिवस रविवार शाम 5 बजे स्थानीय झूलेलाल मंदिर में समारोहपूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर देशभक्ति पर आधारित कार्यक्रम हुए। भारतीय सिंधु सभा इकाई जैसलमेर के अध्यक्ष आशाराम मूलचंदानी ने बताया कि झूलेलाल सिंधी पंचायत जैसलमेर, सिन्धु शिक्षा एवं सांस्कृतिक संस्थान तथा सिन्धु युवा मण्डल के सहयोग से आयोजित कार्यक्रम के मुख्य वक्ता जेठूदान चारण जिला कार्यवाह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ जैसलमेर थे। बाबूलाल जिला प्रचारक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, सेवा भारती के डॉ. दामोदर खत्री, भारती सिंधु सभा के प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य हीरालाल साधवानी तथा आशाराम मूलचंदानी अध्यक्ष भारतीय सिन्धु सभा इकाई जैसलमेर मंच पर उपस्थित थे। सिन्धी पंचायत के ऋषि तेजवानी, भगवानदास बृजाणी, अशोक तेजवानी तथा केवलचंद ठाकवानी ने अतिथियों का स्वागत किया। सिन्धी बाल संस्कार शिविर के विद्यार्थियों लक्ष्य मूलचंदानी, विनय मूलचंदानी, नमन मूलचंदानी तथा तपस्या मूलचंदानी ने देषभक्ति के गीत प्रस्तुत किए। भारतीय सिन्धु सभा के जिला मंत्री किशोर तेजवानी ने बताया कि समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता चारण ने कहा कि मातृभूमि की बलिवेदी पर अपने प्राणों की आहूति देने वाले सिन्ध प्रदेश के अमर शहीद हेमू कालानी को 19 वर्ष की अल्पायु में 21 जनवरी 1942 को तत्कालीन अंग्रेज सरकार द्वारा देषद्रोह के आरोप में फांसी की सजा दे दी। उन्होंने हेमू कालानी के जीवन दर्शन तथा भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में उनकी गौरव गाथा की चर्चा करते हुए उन्हे सिन्ध का शेर, एवं सिन्ध का भगत सिंह तथा 1942 के स्वतंत्रता आंदोलन का अभिमन्यु बताया। डॉ. दामोदर खत्री ने हेमू कालानी पर कविता प्रस्तुत की। कुन्दनलाल वाधवानी ने ऐ मेरे वतन के लोगों.. देश भक्ति का गीत पेश किया। भारतमाता की जय, हेमू कालानी अमर रहे तथा जब तक सूरज चंाद रहेगा, हेमू कालानी तेरा नाम रहेगा के उदघोष के बीच आयोजित कार्यक्रम का संचालन किशोर तेजवानी ने किया। समारोह में चंदुमल जसरानी, रमेश हरवानी, जयशंकर मूलचंदानी, विनोद तेजवानी, प्रकाष मेघानी, कुन्दनलाल वाधवानी, राजकुमार तेजवानी, शताब्दी विस्तारक पुराराम, दिलीप नाथवानी, जेठानन्द मूलचंदानी, अमन हरवानी, महाराज भंवरलाल शर्मा तथा अमित शर्मा उपस्थित थे। समारोह में रंग भरो प्रतियोगिता के प्रतिभागियों को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया। प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य हीरालाल साधवानी ने आभार जताया।

ट्रेंडिंग वीडियो