... यंहा चीन की मदद से पाकिस्तान ने बनाए चार एयरपोर्ट और 350 बंकर

जैसलमेर. पश्चिमी सीमा पर अवस्थित जैसलमेर जिले से लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा के उस पार पाकिस्तान में सामरिक महत्व के निर्माण कार्य करवाया जाना निश्चित तौर पर भारतीय खुफिया व सुरक्षा एजेंसियों के लिए चिंता का सबब है।

By: Deepak Vyas

Published: 27 Jun 2020, 07:04 AM IST

जैसलमेर. पश्चिमी सीमा पर अवस्थित जैसलमेर जिले से लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा के उस पार पाकिस्तान में सामरिक महत्व के निर्माण कार्य करवाया जाना निश्चित तौर पर भारतीय खुफिया व सुरक्षा एजेंसियों के लिए चिंता का सबब है। सूत्रों के अनुसार जैसलमेर जिले के ठीक सामने पाकिस्तान के सीमा क्षेत्र में चीन की कंपनियां पिछले लम्बे अर्से से तेल-गैस खोज के काम में जुटी हुई हैं और वहां चीनी इंजीनियर व तकनीशियन ही काम नहीं कर रहे बल्कि चीन के सुरक्षा गार्ड भी तैनात बताए जाते हैं। यहां मिल रही जानकारी के अनुसार चीन की मदद से पाकिस्तान ने इस सीमा क्षेत्र में चार एयरपोट्र्स का निर्माण कर लिया है तथा करीब 350 बंकर बनाए जा चुके हैं। पाकिस्तान की यह जंगी तैयारियां जैसलमेर के लोंगेवाला और तनोट सीमा क्षेत्र के सामने करवाए जाने की जानकारी मिल रही है। पूर्व में पाकिस्तान 1965 और 1971 में इस पश्चिमी सीमा पर भारत के साथ युद्ध छेड़ चुका है। दोनों में उसे मुंह की खानी पड़ी थी। अब चूंकि चीन के साथ भारत के संबंध तनावपूर्ण बने हुए हैं। ऐसे में भारत पश्चिमी राजस्थान के इस सीमा क्षेत्र को लेकर कतई निश्चिंत होकर नहीं बैठा है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned