विकास के एजेंडे से एक इंच पीछे नहीं हटूंगा: कल्ला

-कुछ तत्वों पर लगाया षड्यंत्र रचने का आरोप
-अतिक्रमणों को सख्ती से हटाया जाएगा
-सभापति ने की पत्रकार वार्ता...

By: Deepak Vyas

Published: 03 Apr 2021, 09:12 PM IST

जैसलमेर. जैसलमेर नगरपरिषद के सभापति हरिवल्लभ कल्ला ने कहा कि उनका एकमात्र एजेंडा स्वर्णनगरी का विकास है और इससे वे एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा कि जो निहित स्वार्थी तत्व नगरपरिषद पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर बोर्ड तथा कांग्रेस की छवि को खराब करना चाहते हैं, वे इतना समझ लें कि मैं दबाव की राजनीति में कतई नहीं आऊंगा। कल्ला शुक्रवार को अपने निजी कार्यालय में पत्रकारों से मुखातिब थे। उन्होंने नगरपरिषद पर पिछले अर्से से लगाए जा रहे भ्रष्टाचार और अनियमितताओं के आरोपों का सिलसिलेवार जवाब दिया। कल्ला ने कहा कि वे पूर्ण ईमानदारी, सत्य-निष्ठा के साथ काम कर रहे हैं तथा कोई व्यक्ति निजी फायदों के लिए उन्हें इस्तेमाल नहीं कर सकता। उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की चर्चाओं के संबंध में सभापति ने कहा कि यह पार्षदों के विवेक पर निर्भर करता है। वे इस पद पर शहर के विकास व आमजन को निर्बाध ढंग से आधारभूत सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए बैठे हैं। कोई षड्यंत्र कर उन्हें अपने पथ से विचलित नहीं कर सकता।
सात माह में 26 करोड़ के भुगतान
सभापति ने पिछले वित्त वर्ष में किए गए कार्यों का लेखा-जोखा भी पेश किया। उन्होंने बताया कि गत सात माह में नगरपरिषद ने विभिन्न विकास और अन्य कार्यों के संबंध में 26 करोड़ का भुगतान किया है। कोई भी बड़ा भुगतान और कार्य बिना बोर्ड सदस्यों की सहमति के बिना नहीं किया है। संस्थाओं को जमीन देने संबंधी पारित प्रस्तावों के बारे में कल्ला ने कहा कि बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव अवश्य लिया गया है,लेकिन इसमें अंतिम फैसला स्वायत्त शासन विभाग करता है। उससे पहले भी कई सारी जांच प्रक्रिया अपनाई जाती है। नगरपरिषद तो इसमें डाकिया की भूमिका निभाती है। सभी व्यय बोर्ड की साधारण सभा में उपस्थित सदस्यों की स्वीकृति के बाद ही किए गए हैं।
अतिक्रमण बर्दाश्त नहीं
जैसलमेर में अतिक्रमणों के बढऩे की बात स्वीकार करते हुए कल्ला ने कहा कि आने वाले दिनों में परिषद का पीला पंजा अतिक्रमणों व अवैध निर्माणों पर चलेगा। इस संबंध में शहरी क्षेत्र के कनिष्ठ अभियंताओं को कहीं भी अतिक्रमण होने पर उसकी तुरंत जानकारी उच्चाधिकारी को देने के लिए पाबंद किया गया है। अन्यथा उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। कल्ला ने बताया कि इसके साथ ही नगरपरिषद की खाली जमीन की तारबंदी या चारदीवारी बनाकर उसका संरक्षण किया जाएगा। जोनल डवलपमेंट प्लान के संबंध में किए गए भुगतान के बारे में कल्ला ने खुलासा किया कि यह सारी कार्यवाही उच्चस्तरीय दिशा-निर्देशानुसार की गई। कल्ला ने कहा कि वर्ष 2021 में शहर के तीव्र विकासए सौन्दर्यकरण के साथ नगरपरिषद की आय में बढ़ोतरी उनके प्रमुख तीन लक्ष्य हैं। कॉलोनियों में बेशकीमती खाली भूखंडों की नीलामी की जाएगी। जिससे परिषद को राजस्व मिलेगा तथा अतिक्रमणकारियों से जमीन बच सकेगी। ऐसे ही परिषद दो आवासीय कॉलोनियों का आवंटन करेगी। जिसमें से एक तो आगामी एक-डेढ़ माह में लांच कर दी जाएगी। एयरफोर्स चौराहा के पास मसाला चौक व बहुउद्देशीय स्थल बनाया जाएगा। नेहरु पार्क सज-संवर चुका है। उसे जल्द ही आमजन के लिए खोला जाएगा। मंगलसिंह पार्क पहले उजाड़ था, उसका स्वरूप निखारा जा चुका है।

यह किया गया खर्च
कल्ला ने बताया कि साफ.-सफाई व आवारा पशुओं से जुड़ी व्यवस्थाओं पर गत 10 माह में 2.87 करोड़, सामान खरीदी पर 50 लाख, 2014 से 2020 की अवधि में टेंट व्यवस्था पर 1.45 करोड़ 59 हजार, कोविड काल की व्यवस्थाओं पर 46 लाख, अल्पाहार-भोजन व्यवस्था पर 2017-18 से 2019-20 की अवधि में 36.33 लाख, कोविड काल में 2020 से 2021 तक 38.77 लाख यानी कुल 75.12 लाख, 14.43 करोड़ सड़क,भवन निर्माणए जल-मल निकासी, हाईमास्ट लाइट व विद्युत पोल पर खर्च हुए।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned