Jaisalmer News- सर्दी से बीमार, खुले में करवा रहे उपचार, फिर कैसे होगा स्वास्थ्य में सुधार

सर्दी के सताए लोगों का खुले में इलाज!
-जवाहर चिकित्सालय में चिकित्सकों ने कक्ष् ा के बाहर किया मरीजों का उपचार

By: jitendra changani

Published: 07 Dec 2017, 02:30 PM IST


जैसलमेर . राज्य सरकार के खिलाफ आंदोलन की राह पर चलते हुए अस्पतालों में ओपीडी का बहिष्कार कर उसके बाहर मरीजों को देखने का चिकित्सकों का ‘सत्याग्रह’ मरीजों पर भारी पड़ता नजर आ रहा है। जैसलमेर जिला मुख्यालय स्थित राजकीय जवाहर चिकित्सालय में इन दिनों करीब एक हजार मरीज ओपीडी में उपचार के लिए आ रहे हैं।इनमें से अधिकांश सर्दी की चपेट में आकर बुखार व खांसी आदि से संबंधित होते हैं। चिकित्सक मरीजों का उपचार अस्पताल के खुले परिसर में करते हैं। अन्य जिलों में जहां सेवारत चिकित्सकों ने वैकल्पिक ओपीडी की व्यवस्था टेंट लगाकर की हुई है, जैसलमेर में ऐसा नहीं किया गया है।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

विदेशी चौंका खुले में इलाज होता देख
‘पत्रिका’टीम ने बुधवार दिन में जवाहर चिकित्सालय का जायजा लिया तो वहां ओपीडी के बाहर चार चिकित्सक मरीजों का इलाज कर रहे थे। बड़ी संख्या में हर आयुवर्ग के मरीज मौजूद थे।इनमें एक विदेशी भी था, जो चिकित्सकों को खुले में बैठा देखकर चौंक गया। बुधवार को षीतलहर के चलने से बुखार के पीडि़त मरीज कांपते नजर आए। सेवारत चिकित्सक संघ के अध्यक्ष डॉ. भूपेंद्र बारूपाल ने बताया कि राज्य नेतृत्व के निर्देशानुसार ओपीडी कक्ष के बहिष्कार की तीन दिनों की अवधि अब समाप्त हो गई है। आगे इस संबंध में कोर कमेटी जो निर्णय करेगी, उसके हिसाब से कदम उठाया जाएगा।

Jaislamer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

सर्द हवाओं की चपेट में आया जैसाण
जैसलमेर/पोकरण. मौसम के पलटवार का असर अब जिले के बाशिंदों की दिनचर्या पर भी देखने को मिल रहा है। सर्द हवाओं से बढ़ी ठिठुरन से जन-जीवन प्रभावित किया है, वहीं खानपान का जायका भी बदल दिया है। जैसलमेर में बुधवार को अधिकतम तापमान 23.3 व न्यूनतम तापमान 9.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पश्चिमी-दक्षिणी भारत से उठे ओखी तूफान के बाद मौसम के बदले हालातों का असर पश्चिमी राजस्थान के साथ पोकरण कस्बे में भी देखने को मिल रहा है। ऐसे में गत दो दिनों से तेज ठण्डी हवाएं चल रही है। वहीं, आसमान में बादल छाए हुए है, जिससे पारा गिरता जा रहा है। तेज शीतलहर से साधारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो रहा है। बुधवार को सुबह से ही तेज सर्द हवाएं चल रही थी तथा आसमान में बादल छाए हुए थे। सुबह 10 बजे बाद सूर्य की किरणें निकली। दोपहर में तेज धूप निकलने से लोगों को राहत मिली, लेकिन सर्द हवाओं के कारण धूप भी बेअसर साबित हो रही थी। लोगों ने दीवारों की ओट में बैठकर, धूप में बैठकर तथा गर्म व ऊनी वस्त्र पहनकर सर्दी से बचने का जतन किया। शाम को सर्द हवाओं के चलते लोगों ने घरों की तरफ जल्दी प्रस्थान किया तथा बाजार सूने हो गए। सर्दी बढने के साथ ही मौसमी बीमारियों के मरीजों की संख्या भी बढऩे लगी है।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned