राजस्व रेकॉर्ड ऑनलाईन होने में प्रदेश में जैसलमेर ने पाया पांचवा स्थान

राजस्व रेकॉर्ड ऑनलाईन होने में प्रदेश में जैसलमेर ने पाया पांचवा स्थान

By: Deepak Vyas

Published: 17 Sep 2020, 11:49 AM IST

जैसलमेर. पोकरण तहसील को ऑनलाईन अधिसूचित करने से जैसलमेर जिले का सम्पूर्ण राजस्व रेकॉर्ड ऑनलाईन हो गया है। इसी के साथ राज्य में राजस्व रेकॉर्ड ऑनलाईन होने में जैसलमेर जिले ने पांचवा स्थान प्राप्त कर लिया है। जिला कलक्टर आषीष मोदी ने बताया कि पोकरण तहसील के ऑनलाईन हो जाने से पूरे जिले का राजस्व रेकॉर्ड ऑनलाईन हो गया है। उन्होंने बताया कि तहसील जैसलमेर, फतेहगढ व भणियाणा का राजस्व रेकॉर्ड पूर्व में ऑनलाईन हो चुका था। उन्होंने बताया कि तहसील स्तर पर सेग्रीग्रेषन एवं मैप डिजिटाइजेशन का कार्य पूर्ण होने के बाद ई-धरती व भू-नक्शा सॉफ्टवेयर पर ई-साइन प्रक्रिया पूर्ण कर लिए जाने पर जिला कार्यालय से 14 सितम्बर को पोकरण तहसील को ऑनलाईन करने के प्रस्ताव राजस्व गु्रप -6 को भिजवाए गए थे।
घर बैठे ले सकेगें राजस्व रेकॉर्ड की जानकारी
उन्होंने बताया कि जिले की सभी तहसीलों का राजस्व रेकॉर्ड ऑनलाईन होने से अब कृषकों को राजस्व रेकॉर्ड के लिए तहसील या पटवारी के पास नहीं जाना पड़ेगा। कृषक अब घर बैठे अपनी खातेदारी भूमि व अन्य भूमि को राजस्व रेकॉर्ड यथा जमाबन्दीए नक्षाए गिरदावरी एवं नामांतरकरण को अपने मोबाईल या कंप्यूटर पर या ई-मित्र केन्द्र जाकर देख सकतेे है। रेकॉर्ड के सेग्रीग्रेशन एवं मैप डिजिटाइजेषन से रेकॉर्ड आदिनांक तक शुद्ध कर दिया गया है व तरमीम शून्य कर दी गई है।
इनका रहा योगदान
उन्होंने बताया कि तहसील पोकरण को ऑनलाईन कार्य में प्रभारी अधिकारी, भू-अभिलेख शाखा कलेक्ट्रेट उपखण्ड अधिकारी जैसलमेर, दिनेश बिश्नोई, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी नवीन माथुर, नायब तहसीलदार पोकरण बंटी देवी, ऑफिस कानूनगो तहसील पोकरण माधवदान रतनूए रिसोर्स पर्सन तहसील जैसलमेर, रूद्रदत्त पालीवाल व रिसोर्स पर्सन तहसील पोकरण ज्योति सोलंकी का योगदान रहा।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned