Jaislamer news- बालिका जन्म पर नहीं किया भुगतान, रात्रि चौपाल में ग्रामीणों ने खोली जिम्मेदारों की पोल

जिला कलक्टर मीना ने आसकन्द्रा में रात्रि चौपाल में सुनी ग्रामीणों की परिवेदनाएं कहा  एक माह में ग्रामीणों को मिलेगा नहर का मीठा पानी

By: jitendra changani

Published: 06 Sep 2017, 07:41 PM IST

जैसलमेर. सरकारी अस्पतालों में प्रसव करवाने और बालिका जन्म को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई राज श्री योजना में लाभ देने की पोल उस समय खुल गई, जब जिले के आसकन्द्रा में आयोजित रात्रि चौपाल के दौरान ग्रामीणों ने अस्पताल में बालिका जन्म के बाद मिलने वाली राजश्री योजना का लाभ नहीं मिलने की बात कही। जिस पर जिला कलक्टर ने आसकन्द्रा में मिली इस शिकायत की जांच करवाने और बालिका जन्म के बाद वंचित लाभार्थी प्रसूताओं को जल्द ही भुगतान करवाने के निर्देश दिए। कलक्टर ने सरकारी योजनाओं से आमजन को लाभान्वित नहीं करने पर नाराजगी जताई और सीएमएचओ को इस संबंध में कड़े निर्देश दिए। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने मंगलवार को ग्राम पंचायत आसकन्द्रा में आयोजित रात्रि चौपाल के दौरान ग्रामीणों की परिवेदनाएं सुनी वहीं उनसे गांव की मुख्य समस्याओं की जानकारी ली एवं उनका समाधान करने का विष्वास दिलाया।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

राजश्री के भुगतान करने की दी हिदायत
  उन्होंने चौपाल के दौरान क्षेत्र की पेयजल, विद्युत आपूर्ति के साथ ही अन्य राजकीय व्यवस्थाओं की जानकारी ली तो ज्ञात हुआ कि यहां बालिका के जन्म पर राजश्री का भुगतान प्राप्त नहीं हुआ। जिला कलक्टर ने इसे गंभीरता से लिया एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के साथ ही एएनएम को निर्देष दिये कि वे कल ही पोकरण एवं नाचना में यहां की गर्भवती महिलाआंे ने संस्थागत प्रसव करवाया एवं जिनके बालिका हुई उसकी पूरी सूचना प्राप्त कर कल ही उनके भुगतान की कार्यवाही करें। उन्होंने इस प्रकार की देरी पर नाराजगी व्यक्त की एवं कडे निर्देष दिये कि वे भविष्य में राजश्री का भुगतान समय पर करावें।
मिलेगा नहर का मीठा पानी
जिला कलक्टर ने ग्रामीणांे को नहर का मीठे पानी की आपूर्ति कराने के संबंध मंे मांग की तो उन्होंने अधिषाषी अभियंता जलदाय से जानकारी ली तो बताया कि एक माह में आसकन्द्रा वासियों को नहर का फिल्टर मीठा पानी उपलब्ध करा दिया जाएगा। इस प्रकार ग्रामीणों को मीठे पानी की सौगात रात्रि चौपाल के बदोलत मिली। चौपाल में उपखण्ड अधिकारी पोकरण रणसिंह, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामेष्वर प्रसाद मीणा, उपायुक्त उपनिवेषन नाचना नरेन्द्रकुमार चौधरी, विकास अधिकारी धनदान देथा, सरपंच आसकन्द्रा श्रीमती सुनीता गोस्वामी के साथ ही अच्छी संख्या में ग्रामीणजन एवं जिलाधिकारी उपस्थित थें।
चालू हो आंगनवाडी केन्द्र
जिला कलक्टर ने ग्रामीणों से आंगनवाडी केन्द्र के संचालन एवं बच्चों को मिलने वाले पोषाहार की जानकारी ली तो ज्ञात हुआ कि यहां तीन मे से दो केन्द्र काफी समय से बन्द है। उन्हांेने इसको गंभीरता से लिया एवं मौके पर ही क्षेत्रीय उप निदेषक महिला एवं बाल विकास व महिला सुपरवाईजर को वहां रात में रूककर बुधवार को ही आंगनवाडी केन्द्र में बच्चांे के लिए पोषाहार चालू करने के कडे निर्देष दिये एवं हिदायत दी कि किसी भी सूरत में आंगनवाडी केन्द्र बंद नहीं होना चाहिए।
15 दिन में हो शौचालयों की स्वीकृति
जिला कलक्टर ने विकास अधिकारी एवं ग्राम सेवक को निर्देष दिये कि वे जिन परिवारों के वहां शौचालय निर्माण होना है उनमें महानरेगा में 15 दिवस में शौचालय निर्माण की स्वीकृति जारी करके नवंबर माह तक शत्-प्रतिषत घरांे में शौचालय निर्माण करने की कार्यवाही करावंे।
कार्यो का किया सत्यापन
उन्होंने चौपाल के दौरान महानरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत स्वीकृत कार्यो एवं उन पर लगे श्रमिकों की जानकारी ग्रामीणों से ली तो बताया कि महानरेगा में तीन नाडी कार्य चल रहे है जिस पर 210 श्रमिक कार्यरत है।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

पशुओं के स्वास्थ्य का बीमा करावें
जिला कलक्टर ने सहायक निदेषक पषुपालन को निर्देष दिये वे ऊष्ट विकास योजना में जो ऊंट पालक लाभान्वित हुए है उनको राषि का भुगतान करावें। इसके साथ ही ऊंटों एवं पषुओं में फैली बीमारी के लिए नाचना से पषु चिकित्सा टीम भेजकर उसका उपचार करावें वहीं पषुपालकों के पषुओं का स्वास्थ्य बीमा करावें।
सहकारी समिति खाद बीज विक्रय करावें
उन्हांेने चौपाल के दौरान ग्रामीणों को वर्ष 2016 के फसल खराबे के लिए मिली मुआवजा सहायता राषि की जानकारी ली तो बताया कि उन्हें मुआवजा राषि के चेक मिले है। उन्होंने सहकारी समिति के सुपरवाईजर को निर्देष दिये कि वे 15 दिन में खाद बीज का लाईसेंस लेकर रबी फसल में किसानों को उचित दर पर खाद बीज उपलब्ध कराने की व्यवस्था करावें।
एक माह में चारों ढाणियां हो विद्युतीकरण
जिला कलक्टर ने ग्रामीणांे से पण्डित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में विद्युतीकरण के लिए चयनित ढाणियों की जानकारी तो बताया कि यहां 7 ढाणियां चयनित की गई है जिसमें से 3 ढाणियों में विद्युतीकरण का कार्य हो गया है लेकिन 4 ढाणियांे में अभी तक खंभे भी नहीं लगे है। इस संबंध में जिला कलक्टर ने अधिषाषी अभियंता विद्युत को निर्देष दिये कि वे एक माह में चारों में ढाणियों में खंभे लगवाकर इनको भी विद्युतीकरण से जोड दें। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि वे घरेलू विद्युत कनेक्षन के लिए आवेदन करें ताकि उन्हें घर की बिजली का लाभ मिल सकें।
इन्होंने रखी परिवेदनाएं
चौपाल के दौरान सरपंच श्रीमती सुनीता गोस्वामी एवं अन्य ग्रामीणों ने आसकन्द्रा में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्वीकृत करानें, बालिका षिक्षा के लिए यहां छात्रावास खोलने, आबादी भुमि विस्तार करने, खेतों में जाने के लिए रास्तें की सुविधा उपलब्ध कराने के संबंध में प्रार्थना-पत्र पेष किए।
योजनाओं की दी जानकारी
चौपाल के दौरान विभागीय अधिकारियों ने राज्य सरकार की फ्लेगषिप एवं जनकल्याणकारी योजनाओं की विस्तार से जानकारी प्रदान की एवं ग्रामीणो को इसका अधिक से अधिक लाभ उठानें का आग्रह किया। जिला कलक्टर ने अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे चौपाल के दौरान व्यक्तिगत लाभदायी योजनाओं की पूर्ण सूचना, विभाग की मुख्य समस्या की जानकारी के साथ चौपाल में उपस्थित होवें ताकि वे ग्रामीणों को सही जवाब दे सके। कार्यक्रम का संचालन उप निदेषक सांख्यिकी डॉ.बी.एल.मीणा ने किया।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned