Video: मिनी ट्रांसफार्मर बदलने के लिए जेईएन मांगी रिश्वत, मित्र के फोन-पे में करवाई ट्रांसफर

- एसीबी ने किया गिरफ्तार, व्हाट्सअप के जरिए परिवादी से करता था चैट

By: Deepak Vyas

Published: 03 Jul 2021, 11:13 AM IST

पोकरण/नाचना. मिनी ट्रांसफार्मर जल जाने पर नया ट्रांसफार्मर लगाने की एवज में रिश्वत राशि की मांग करने, राशि को अपने मित्र के फोन-पे में ट्रांसफर करवाने के बाद नया ट्रांसफार्मर देने के मामले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो एसीबी जैसलमेर की टीम ने नाचना गांव के डिस्कॉम कार्यालय में कार्यरत कनिष्ठ अभियंता को शुक्रवार को गिरफ्तार किया। एसीबी की टीम आरोपी से पूछताछ कर रही है। जिसे शनिवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। एसीबी जैसलमेर के उपाधीक्षक अन्नराज ने बताया कि नाचना डिस्कॉम कार्यालय के कनिष्ठ अभियंता डेढ़ा निवासी किशोरकुमार पुत्र रतनलाल सुथार ने मदासर गांव में एक घरेलू कनेक्शन के मिनी ट्रांसफार्मर के जल जाने पर उसे बदलने व नया ट्रांसफार्मर देने की एवज में पांच हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी। शिकायत का सत्यापन भी किया गया। शुक्रवार को पीडि़त ने कनिष्ठ अभियंता के बताए फोन-पे नंबर पर राशि हस्तांतरित की। जिस पर एसीबी की टीम ने नाचना केे डिस्कॉम कार्यालय स्थित स्टोर में दबिश देकर आरोपी कनिष्ठ अभियंता को गिरफ्तार किया। साथ ही जिस फोन-पे पर राशि हस्तांतरित की गई है, उस व्यक्ति के साथ कनिष्ठ अभियंता के संबंध को लेकर भी एसीबी जांच कर रही है।
यह था मामला
एसीबी के उपाधीक्षक अन्नराज के अनुसार परिवादी मदासर निवासी रामनिवास पुत्र तुलछाराम विश्रोई ने परिवाद पेश कर बताया था कि उसके पिता तुलछाराम के नाम से घरेलू विद्युत कनेक्शन चक संख्या 01 एनएलडी (बी) में लिया हुआ है। यहां मिनी ट्रांसफार्मर लगा हुआ है, जो गत दिनों जल गया था। उसे बदलवाने के लिए उसने डिस्कॉम नाचना के कनिष्ठ अभियंता किशोरकुमार से मिलकर बात की, तो नया ट्रांसफार्मर देने की एवज में पांच हजार रुपए रिश्वत की मांग की गई थी।
मित्र के फोन-पे में करवाए ट्रांसफर
परिवादी ने बताया कि कनिष्ठ अभियंता की ओर से पूरी बातचीत व्हाट्सअप के माध्यम से की जा रही थी। साथ ही पांच हजार रुपए की राशि भी नकद नहीं लेकर फोन-पे पर हस्तांतरित करवाने की बात कही गई। उसके लिए भी कनिष्ठ अभियंता ने अपने मित्र के नंबर दिए। परिवादी की ओर से राशि हस्तांतरित करने के बाद कनिष्ठ अभियंता ने ट्रांसफार्मर इश्यु कर दिया। इस पूरी वार्ता के स्क्रीनशॉट उपलब्ध करवाने व सत्यापन के बाद शुक्रवार को एसीबी की ओर से कार्रवाई करते हुए कनिष्ठ अभियंता को गिरफ्तार किया गया।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned