सभी तीर्थकरों का जीवन चरित्र उत्कृष्ट एवं अनुकरणीय: आराधक राजवीर

सभी तीर्थकरों का जीवन चरित्र उत्कृष्ट एवं अनुकरणीय: आराधक राजवीर

By: Deepak Vyas

Published: 11 Sep 2021, 01:02 PM IST

सभी तीर्थकरों का जीवन चरित्र उत्कृष्ट एवं अनुकरणीय: आराधक राजवीर
जैसलमेर. पर्युषण पर्व की आराधना के सातवें दिन व्याख्यान सभा में तीर्थकरों के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए आराधक राजवीर भाई ने कहा कि सभी तीर्थकरों का जीवन चरित्र उत्कृष्ट एवं अनुकरणीय है। तीर्थकर भगवंतों ने अपने प्रबल पुरुषार्थ से कैवल्य ज्ञान प्राप्त कर प्रत्येक जीव के कल्याण का प्रयत्न किया और वर्तमान में सुधर्मा स्वामी से चली आ रही गुरू परंपरा ने उस ज्ञान को हम तक पहुंचा कर जो उपकार किया है। वह ऋण कभी उतारा नहीं जा सकता। जिन शासन में निर्दिष्ट नियमों एवं सूत्रों की पालना करने से मोक्ष प्राप्ति सहज तथा शीघ्र होती है। प्रवक्ता पवन कोठारी ने बताया कि इस दिन स्नात्र पूजा का लाभ ज्ञानचंद राणामल डूंगरवाल एवं अंग रचना का लाभ कुंदनमल पारसमल राखेचा परिवार ने लिया। ट्रस्टी नेमीचंद बागचार ने कहा कि संवत्सरी प्रतिक्रमण में सकल संघ उपस्थित होकर शासन शोभा में अभिवृद्धि करें ।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned