छह महीने से कुम कम हेल्पर को नहीं मिला मानदेय

छह महीने से कुम कम हेल्पर को नहीं मिला मानदेय

By: Deepak Vyas

Published: 08 Oct 2020, 11:10 AM IST

जैसलमेर. राजस्थान शिक्षक एवं पंचायती राज कर्मचारी संघ ने नौनिहालों को पोषण युक्त पोषाहार एवं दुग्ध वितरण की जिम्मेदारी संभाल रहे कुक कम हेल्पर को गत 6 माह से मानदेय का भुगतान नहीं किए जाने पर रोष जताया है। ऐसे में कोरोना काल के चलते मानदेय का भुगतान नही होने के कारण उन्हें अपना परिवार चलाने में आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है । राजस्थान शिक्षक एवं पंचायती राज कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष जसवंतसिंह भाटी सगरा ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण विद्यालय तो खुल गए लेकिन अभी छात्र-छात्राओं को अनुमति नहीं मिली। इसमें इन गरीब और चयनित परिवार से आने वाले कुक कम हेल्परों का तो कोई कसूर नहीं है । विगत कई वर्षों से अल्पमानदेय पर पूर्ण निष्ठा और सेवा भाव से कार्य करने वाले कुक कम हेल्परों की सुध लेने वाला कोई नहीं । पंचायती राज संघ जैसलमेर के प्रदेश मंत्री प्रकाश विश्नोई ने बताया कि इनको सरकार की ओर से केवल 1340 रुपए, 44 रुपए प्रतिदिन मासिक मानदेय का भुगतान किया जाता है, जो कि मंहगाई और आर्थिक मंदी के इस दौर के साथ साथ कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए बहुत कम है । पंचायती राज संघ ने कहा कि इनके कार्य की प्रकृति को देखते हुए इन्हें न्यूनतम 243 रू दैनिक मानदेय के हिसाब से भुगतान किया जाना चाहिए । उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि इन्हें तुरंत प्रभाव से बकाया मानदेय का भुगतान कर राहत दिलाई जाए।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned