गो माता के लिए समर्पित होकर कार्य करने की दी सीख

गो माता के लिए समर्पित होकर कार्य करने की दी सीख

By: Deepak Vyas

Updated: 15 Sep 2021, 09:50 AM IST

जैसलमेर. जैसलमेर गोसेवा संघ एवं गो पर्यावरण संरक्षण समिति के संयुक्त तत्वाधान में स्थानीय स्थानीय संत उद्धवदास कन्हैया गोशाला में आयोजित दिव्य गोकृपा कथा महोत्सव का आगाज पंचमुखी हनुमान मंदिर में भगवान बालाजी महाराज की मंत्रोचार से पूजा गुरुदेव भगवान ने कर शोभायात्रा का आगाज किया। शोभायात्रा पंचमुखी हनुमान मंदिर से धाटी कॉलोनी होते हुए कन्हैया गोशाला पहुंची। व्यासपीठ से भगवान गुरुदेव जगदीश गोपाल सरस्वती ने गो महिमा पर प्रवचन किया। उन्होंने मुख्य अतिथि नगरपरिषद सभापति का माल्यार्पण कर अभिनंदन किया गया। उन्होंने कहा कि आपके कार्यकाल में गोमाता को कष्ट नहीं हो। गोमाता के प्रवचनों के बाद मुख्य अतिथि हरिवल्लभ कल्ला ने सपत्नीक सनातन विधि विधान से आरती की।
दोपहर दो बजे शुरू हुई दिव्य गोकृपा कथा में साध्वी कपिला दीदी ने राम भक्त शबरी का उदाहरण देते हुए कहा कि इंसान को सब्र करना चाहिए। सब्र करने से ईश्वर मिलते है। इंसान को अच्छे कार्य करते रहना चाहिए। उन्होंने मानव की नौ माताएं बताई जिसमें प्रथम मां गो मैया को बताया, जो इंसान को जिंदगी भर दूध पिलाती है। दूसरी मां धरती माँ जो इंसान के सभी प्रकार के गुण अवगुणों को अपने में समाकर उसका पोषण करती है। तीसरी मां जन्म देने वाली मां। मां से बड़ा शिक्षक कोई नहीं। साध्वी कपिला दीदी ने माताओं से बच्चों को साथ में लेकर आने की बात कही।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned