सुकून में कट रही थी जिंदगी तो अब दहशत में गुजर रहा दिन

-चंगुल में चांधन भी, अब तक कोरोना के कोहराम से रहा था दूर

By: Deepak Vyas

Published: 23 May 2020, 08:44 PM IST

जैसलमेर/चांधन. महज दो दिन पहले तक उनकी जिंदगी शांति व सुकून से गुजर रही थी। एक तरफ कोरोना के कहर के चलते सरकारी मशीनरी लोगों को राहत पहुंचाने के लिए दिन रात दौड़ रही थी, वही यहां के बाशिंदे बिना किसी सहायता के सामान्य रूप से जीवन यापन कर रहे थे। अब दो दिन बाद ही यहां का नजारा ही बदला हुआ नजर आ रहा है। चांधन कस्बे में कोरोना के दो पॉजिटिव आने के बाद भय का माहौल है। पॉजिटिव मिले दोनों व्यक्ति प्रवासी है। सुकून की बात यह है कि दोनों पॉजिटिव बाहर स्कूल में ही क्वॉरंटीन किए हुए है। पूना से आए ये प्रवासी लकड़ी के कारीगर है। अब तक शांत रहे कस्बे में मरीज आने के बाद पुलिस और प्रशासन की आवाजाही शरू हो गई है। दोनों पॉजिटिव को जैसलमेर ले जाया जा रहा है। पॉजिटिव मरीज आने के बाद से कस्बे में स्वत: स्र्फूत क र्यू के हालात हो गए है। लोगों ने अपने आप ही सावधानी बरतनी शुरू कर दी है। उधर, चांधन कस्बे में शुक्रवार को आई रिपोर्ट में दो प्रवासियों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद लाठी गांव के लोगों में दहशत देखी जा सकती है। लाठी कस्बा चांधन के समीप होने के कारण गांव के वाशिंदे डर के छाए में जी रहे है। हालांकि प्रशासन अलर्ट नजर आ रहा है। लगातार पुलिस प्रशासन लोगों को घरों में रहने के लिए हिदायत दी जा रही है। कस्बे मे कोरोना की दस्तक के साथ ही यहां हालात एक दम बदल गए हैं। भय के चलते लोगो ने घरो से बाहर निकलना बंद कर दिया। कफ्र्यू की घोषणा होते ही साब जगह वीरानगी छा गई है। जिस छात्रावास मे प्रवासी पॉजिटिव मिले है, उसे रात को ही सेनीटाइज कर दिया गया। जिन घरों मे लोग होम क्वारंटीन थे, वहां भी छिड़काव कर सेनीटाइज किया गया। चिकित्सा विभाग की टीम भी शनिवार को कस्बे में पहुंची। टीम ने पॉजीटिव प्रवासियों के साथ बचे लोगो के आज सैंपल लिए तथा जांच के लिए ले गए। टीम की ओर से सघन सर्वे की भी तैयारी की गई। कस्बे में प्रशासन और पुलिस के अधिकारियो ने भी दौरा किया। कस्बे के निकटवर्ती हमीरा गांव में ठहराए प्रवासियों का सतत निरीक्षण और देखभाल सरकारी कार्मिको द्वारा की जा रही है। पंचायत सहायक कूंपाराम ने बताया कि हमीरा गांव में बाहर से आए चौरासी लोगों को क्वॉरंटीन किया हुआ है। इन प्रवासियों की सुविधाओं का स्थानीय समिति की ओर से ध्यान रखा जा रहा है। समिति के सदस्य लगातार घरों व बाहर ठहराए लोगों से संपर्क कर रहे हंै। होम क्वॉरंटीन लोगों को बाहर नहीं निकलने के लिए समझाइस की जा रही है।
लाठी. क्षेत्र में प्रशासन, पुलिस व चिकित्सा विभाग के अधिकारी अलर्ट मोड पर है। गांव में पुलिस का जाब्ता तैनात किया गया है तथा चारों ओर पुलिस का पहरा है। गांव को पुलिस की ओर से नाकाबंदी कर सील कर दिया गया है। न तो किसी व्यक्ति को चांधन से बाहर जाने दिया जा रहा हैए न ही बाहरी व्यक्ति को प्रवेश दिया जा रहा है। कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीज की जानकारी मिलने पर स्थानीय लोगों में भी भय व दहशत का माहौल हो गया है। शनिवार को लोग घरों में रुके और बाहर नहीं आए। ऐसे में मुख्य मार्गों पर सन्नाटा पसरा रहा और कफ्र्यू जैसी स्थिति देखने को मिली। कोरोना वायरस पॉजिटिव व्यक्ति मिलने के बाद लाठी पुलिस पूरी तरह से चौकस है। लाठी थानाधिकारी ओमप्रकाश चौधरी के नेतृत्व मे चांधन गांव को सील कर दिया गया है। गांव में मुख्य मार्गों पर बेरीकेडिंग लगाकर बंद कर दिया गया है तथा प्रमुख मार्गो पर पुलिस तैनात कर दी गई है। इसी प्रकार पुलिस के वाहनों से कस्बे में गश्त की जा रही है। बाहर निकलने वाले प्रत्येक व्यक्ति को रुकवाकर पूछताछ की जा रही है तथा उन्हें समझाइश कर घरों की तरफ रवाना किया जा रहा है।
घरों से बाहर निकलने पर पाबंदी
कोरोना वायरस संक्रमण के कारण देश भर में लॉकडाउन किया गया था। इस दौरान धारा 144 लगाई गई थी। चांधन गांव में भी दो कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद धारा 144 की शक्तियों को बढ़ाते हुए गांव में सख्ताई बढ़ा दी गई है। आमजन को घरों में रुकने के लिए पाबंद किया गया है तथा बाहर घूमने व वाहनों से आवागमन करने पर पूरी तरह से पाबंदी लगाई गई है। शनिवार को लोगों को चहल- पहल नजर नहीं आई। लाठी क्षेत्र के चांधन गांव में शनिवार को कोरोना को दो पॉजिटिव मामला सामने आने पर मेडिकल स्क्रीनिंग टीम की ओर से कोरोना के संपर्क में आए लोगों की संघन स्क्रीनिंग कर सैंपल लिए जा रहे है। पॉजिटिव आने के साथ ही चांधन गांव पूरी तरह से कफ्र्यू में तब्दील हो गया है। हालांकि कोरोना वॉरियर्स द्वारा दिन रात मेहनत कर पॉजिटिव के संपर्क में आए लोगों के सैंपल लेने की कार्रवाई की जा रही है। चांधन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा प्रभारी डॉ. अशोक पालीवाल के नेतृत्व में मेडिकल टीम गठित की है। डॉ. अशोक पालीवाल ने बताया कि चांधन गांव मरीज के संपर्क में आए तथा उनके घर वालों के रैंडम सैंपल लिए गए हैं।
चांधन हाई रिस्क जोन, प्रतिषिद्ध क्षेत्र घोषित
इसी तरह शुक्रवार शाम को कलेक्टर एवं जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण के अध्यक्ष नमित मेहता ने चांधन गांव को हाई रिस्क जोन होने से प्रतिषिद्ध क्षेत्र घोषित कर दिया है। आदेश के अनुसार क्षेत्र में सभी निवासी आवश्यक रूप से अपने घर पर ही रहेंगे व किसी भी प्रकार के गैर अनुमति कारण से बाहर आवागमन नहीं करेंगे। कोई भी व्यक्ति बिना उपखण्ड अधिकारी की अनुमति के न तो बाहर से इस क्षेत्र में आ सकेगा और न ही क्षेत्र से बाहर जा सकेगा। केवल चिकित्साकर्मी, पुलिसकर्मी, एम्बुलेंस व अन्य व्यक्ति जो राज्यादेश की पालना में वहां जाने के लिए अनुमति है, के अतिरिक्त किसी भी व्यक्ति के आवागमन पर पूर्ण पाबंदी रहेगी। गृह विभाग के आदेश के तहत अनुमत गतिविधियां विशेष परिस्थितियों में बाद अनुमति ही संचालित की जा सके। ऐसी अनुमति केवल अपरिहार्य होने पर ही दी जा सकेगी। पुलिस अधीक्षक हाई रिस्क प्रतिषिद्ध क्षेत्र में शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने की कार्रवाई करेंगे।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned