JAISALMER NEWS- सुकाळ के लिए देखे शुगन, ऐसे मनाया अक्षय तृतीया का त्यौहार

By: jitendra changani

Published: 19 Apr 2018, 11:35 AM IST

Jaisalmer, Rajasthan, India

Rajasthan patrika

1/2

लाठी में अक्ष्य तृतीयया के मौके पर आयोजित कार्यक्रम।

लक्ष्मीनाथ मंदिर में लगा दर्शनार्थियों का तांता
जैसलमेर. जैसलमेर जिले में अक्षय तृतीया का पर्व उत्साह व उल्लास के माहौल में मनाया गया। बड़े-बुजुर्गों ने आने वाले मानसून काल में अच्छी बारिश और सुकाल के लिए शगुन देखे। नगर में अधिकांश दुकानें बंद रही और लकदक परिधानों में सजे-संवरे बच्चे, पुरुष और महिलाएं दिखाई दिए। यहां घरों में मूंग-चावल और अन्य पकवान बनाए गए और धान पर कलश स्थापना कर भरपूर धन-धान्य के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। गांवों में भी अक्षय तृतीया धूमधाम के साथ मनाई गई और मुख्य स्थानों पर रियाण रखी गई। ग्रामीणों ने बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद लिया और एक-दूसरे को शुभकामनाएं दी।
अक्षय तृतीया के मौके पर बुधवार को दुर्ग स्थित नगर आराध्य भगवान लक्ष्मीनाथ मंदिर में हजारों की संख्या में दर्शनार्थी पहुंचे। इनमें बड़ी संख्या में प्रवासी जैसलमेरी समुदाय के लोग भी शामिल थे। लोगों ने अपने रिश्तेदारों व मित्रों के घर जाकर बुजुर्गों से आशीर्वाद लिया। पारम्परिक रूप से कई मोहल्लों में एक दूसरे के घर जाकर मूंग चावल का भोजन किया।
फतेहगढ़. उपखंड मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों में बुधवार को अक्षय तृतीया का पर्व हर्षोल्लास से मनाया गया। उपखंड मुख्यालय में बुधवार को विभिन्न मोहल्लों में विभिन्न समाजों के सभा भवनों व कोटडिय़ों में रेंवाणों का आयोजन किया गया। अक्षय तृतीया के दौरान महिलाओं ने घरों में व्यंजन तैयार किए। दिनभर रेयाणों का दौर चलता रहा। ग्रामीणों ने एक दूसरे के यहां जाकर अक्षय तृतीया पर्व की शुमकामनाएं दी। अक्षय तृतीया के दौरान कस्बे में स्थित बाबा केशरनाथ मठ प्रांगण में स्नेह मिलन समारोह का आयोजन किया गया।अक्षय तृतीया के पर्व पर ग्रामीणों ने सुकाल के लिए शगुन भी देखे।
पोकरण. कस्बे सहित आसपास के क्षेत्र मे अक्षय तृतीया का पर्व हर्षोल्लास से मनाया गया। बुधवार को लोगों ने घरों में गेहंू व बाजरे का खीच बनाकर उसका सेवन किया। परिवार के सदस्यों के साथ बैठकर प्रेम व सद्भाव के साथ भोजन कर एक-दूसरे को अक्षया तृतीया की बधाई व शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर कस्बे के बाजार बंद रहे। शाम के समय लोगो ने एक दूसरे के घर जाकर अक्षय तृतीया की बधाई दी तथा छोटों ने बड़ों से आशीर्वाद लिया। शाम छ: बजे गर्मी का दौर थम जाने से लोगों ने पंतगे उड़ाई।
लाठी निसं- लाठी कस्बे स्थित जगतम्बा मन्दिर में बुधवार को अक्षय तृतीया का पावन पर्व भक्ति गो सेवा गोदान व हरिनाम संकीर्तन के साथ धूमधाम से मनाया गया। भक्तों की ओर से जगतम्बा मन्दिर में मूर्ति पूजा की गई, जिसकी छटा मनमोहक थी। सुबह से ही श्रद्धालु जगदम्बा मन्दिर में उमड़ पड़े । सत्यनारायण पालीवाल ने कहा कि अक्षय तृतीया पर्व पर ही सखा सुदामा ने भगवानश्री कृष्ण को एक मु_ी चावल भेंट किए थे, जिससे भगवान श्री कृष्ण ने मित्र सुदामा का उद्धार किया था। मुकेश पालीवाल ने महामंत्र का जाप किया तथा कृष्ण भक्ति के भजनों का गायन कर श्रद्धालुओं को भाव-विभोर कर दिया। इस अवसर पर मिश्रीलाल टावरी, सुन्दरलाल सुथार, प्रेम पालीवाल, राजन पालीवाल, जगदीश सुथार, जयप्रकाश, कमल, डॉ जयप्रकाश, दीपक पालीवाल, रमण पालीवाल, सहीराम विश्नोई आदि उपस्थित थे।
रामदेवरा. रामदेवरा गांव में बैसाख माह की अक्षय तृतीया पर बाबा रामदेव समाधि समिति की ओर से से विधि-विधान के साथ निज मंदिर स्थित कचहरी परिसर में पौराणिक परम्परा के अनुसार शगुन विचारे गए। बाबा रामदेव वंशज गादीपति राव भोम सिंह सहित तंवर परिवार के सैकड़ों लोगों ने सामूहिक रूप से शिरकत की। तृतीया के अवसर पर निज मंदिर स्थित कचहरी परिसर में बुधवार को विविध कार्यक्रम का आयोजन किया गया। तंवर परिवार के समस्त लोगों ने सामूहिक रूप से शिरकत की। राव भोम सिंह सहित रामदेव अन्न क्षेत्र के महंत प्रेमनाथ महाराज सहित तंवर परिवार के सभी युवा व बुजुर्ग गणमान्य लोगों ने इसमे शिरकत की व आखातीज पर्व की शुभकामना प्रेषित की।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned