Jaisalmer:नगरपरिषद वार्डों के आरक्षण की लॉटरी निकाली,एक-तिहाई वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित

Jaisalmer:नगरपरिषद वार्डों के आरक्षण की लॉटरी निकाली,एक-तिहाई वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित
Jaisalmer:नगरपरिषद वार्डों के आरक्षण की लॉटरी निकाली,एक-तिहाई वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित

Deepak Vyas | Publish: Sep, 18 2019 06:51:17 PM (IST) | Updated: Sep, 18 2019 06:51:18 PM (IST) Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

इस साल के नवम्बर माह में प्रस्तावित जैसलमेर नगरपरिषद चुनाव से पहले बुधवार को शहरी क्षेत्र के पुनर्गठित और नवसृजित वार्डों के आरक्षण की लॉटरी निकाली गई। इस लॉटरी ने शहरी क्षेत्र के कई राजनीतिक कार्यकर्ताओं के अरमानों पर गाज गिराने का काम किया है। बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) नमित मेहता की अध्यक्षता में आयोजित लॉटरी बैठक में जैसलमेर विधायक रूपाराम धणदे सहित राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

जैसलमेर.इस साल के नवम्बर माह में प्रस्तावित जैसलमेर नगरपरिषद चुनाव से पहले बुधवार को शहरी क्षेत्र के पुनर्गठित और नवसृजित वार्डों के आरक्षण की लॉटरी निकाली गई। इस लॉटरी ने शहरी क्षेत्र के कई राजनीतिक कार्यकर्ताओं के अरमानों पर गाज गिराने का काम किया है। बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) नमित मेहता की अध्यक्षता में आयोजित लॉटरी बैठक में जैसलमेर विधायक रूपाराम धणदे सहित राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि मौजूद थे। स्कूली विद्यार्थियों पुष्पा, खुश्बू, लोकेंद्र और नरेंद्र ने लॉटरी की पर्चियां निकाली। इसके बाद से शहरी क्षेत्र के राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। अब सबकी निगाहें आने वाले दिनों में राजधानी जयपुर पर टिकी हुई हैं, जहां सभापति किस वर्ग से होगा, इसका फैसला किया जाएगा।
ये वार्ड महिलाओं के हवाले
जैसलमेर नगरपरिषद में इस बार वार्डों की संख्या पिछली बार की तुलना में 10 बढ़कर अब 45 हो गई हैं। इनमें विभिन्न वर्गों की महिलाओं के लिए एक-तिहाई यानी १५ वार्ड आरक्षित हो गए हैं। लॉटरी के अनुसार वार्ड 8 और 39 एससी महिला, 30 नं. एसटी महिला के लिए आरक्षित होगा। ऐसे ही वार्ड नं. २७, ३२ और ४० ओबीसी महिला तथा 2, 12, 14, 17 , 18 , 26 , 16 , 37 और 41 नं. वार्ड सामान्य महिलाओं के लिए निर्धारित हो गया है। इसी तरह से वार्ड ९, ३१ और ३९ एससी और ७ एसटी सामान्य हो गया है। ओबीसी सामान्य के लिए 44, 15, 11, 25, 3और 21 नं. वार्ड तथा सामान्य के लिए २० वार्ड निर्धारित हुए हैं। जिनमें वार्ड नं. 1, 4 , 6 , 10 , 13 , 19, 20, 22, 23, 24, 28, 32, 33, 34, 35, 36, 38, 42, 43, 45सम्मिलित हैं।
दुर्ग के दोनों वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित
बुधवार को निकाली गई आरक्षण लॉटरी में ऐतिहासिक सोनार दुर्ग में नवसृजित एक वार्ड समेत दोनों वार्ड महिला सामान्य के लिए आरक्षित हो गए हैं। इससे यहां से निर्वाचित होकर नगरपरिषद में पहुंचने का सपना संजोने वाले पुरुष उम्मीदवारों की आशाओं पर पानी फिर गया। पूर्व में ४ नं. वार्ड में समूचा दुर्ग समाहित था अब यहां वार्ड नं. 16 व 17 बन गए हैं। ऐसे ही मौजूदा नेता प्रतिपक्ष आनंद व्यास का निर्वाचन क्षेत्र वार्ड नं. 37 भी सामान्य महिला के हिस्से आ गया है। वहीं कुछ वार्ड ऐसे भी हैं, जहां से महिलाओं की दावेदारी सशक्त है और वे वार्ड भी महिलाओं के लिए ही आरक्षित हो गए हैं।
33 हजार से ज्यादा मतदाता
जानकारी के अनुसार जैसलमेर नगरपरिषद क्षेत्र में इस बार 33 हजार से ज्यादा मतदाता 45 वार्ड पार्षदों सहित सभापति के सीधे निर्वाचन में भागीदारी कर सकेंगे। कुछ वार्डों में जहां मतदाताओं की संख्या 800-900 तक है वहीं कई वार्ड महज 200-300 मतदाताओं के लिए बनाए गए हैं। इस तथ्य को लेकर लॉटरी बैठक में भाजपा के जिला प्रवक्ता जुगल बोहरा ने आपत्ति दर्ज करवाई। उन्होंने इस बात को लेकर रोष प्रकट किया कि मतदाता सूचियां एक-दो दिन पहले ही उपलब्ध करवाई गई है। बोहरा ने कहा कि भाजपा की आपत्तियों को सही ढंग से सुना नहीं गया। बैठक में कांग्रेस जिलाध्यक्ष गोविंद भार्गव, उपखंड अधिकारी अजय, नायब तहसीलदार सत्यप्रकाश खत्री उपस्थित थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned