मदरसा पैराटीचर्स ने आंखों पर काली पट्टी बांधकर जताया विरोध

मदरसा पैराटीचर्स ने आंखों पर काली पट्टी बांधकर जताया विरोध

Deepak Vyas | Publish: Jul, 26 2019 05:43:08 PM (IST) Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

राजस्थान मदरसा शिक्षा सहयोगी संघ की ओर से उपखण्ड अधिकारी कार्यालय के समक्ष दिया जा रहा धरना चौथे दिन भी जारी रहा। मदरसा पैराटीचर्स ने आंखों पर काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। गौरतलब है कि मदरसा पैराटीचर्स गत कई वर्षों से अल्प मानदेय पर कार्य कर रहे है।

जैसलमेर/पोकरण. राजस्थान मदरसा शिक्षा सहयोगी संघ की ओर से उपखण्ड अधिकारी कार्यालय के समक्ष दिया जा रहा धरना चौथे दिन भी जारी रहा। मदरसा पैराटीचर्स ने आंखों पर काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। गौरतलब है कि मदरसा पैराटीचर्स गत कई वर्षों से अल्प मानदेय पर कार्य कर रहे है। न्यूनतम मजदूरी से भी कम मानदेय होने के कारण परिवार का पालन पोषण करना मुश्किल हो रहा है। इस संबंध में कई बार सरकार से मांग की गई, लेकिन सरकार की ओर से मात्र आश्वासन दिया जा रहा है। कोई कार्रवाई नहीं होने पर अब पैराटीचर्स की ओर से आंदोलन शुरू किया गया है। पैराटीचर्स को नियमित करने, मानदेय बढ़ाने, विद्यालय सहायक भर्ती 2015 को उच्चतम न्यायालय में पैरवी करवाकर पूर्ण करवाने, अनुबंध की प्रक्रिया को समाप्त कर मानदेय समय पर दिलाने की मांग को लेकर दिए जा रहे धरने के अंतर्गत गुरुवार को पैराटीचर्स ने आंखों पर काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन किया। गुरुवार को मदरसा प्रबंधन समिति के हाजी इस्लामखां के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने यहां पहुंचकर धरने को समर्थन दिया।
भीख मांगकर राशि करवाएंगे जमा
मदरसा पैराटीचर्स ने बताया कि 26 जुलाई को आंदोलन तेज किया जाएगा। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को सभी पैराटीचर्स भीख मांगकर राशि एकत्र करेंगे तथा उस राशि को मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 28 जुलाई तक भी उनकी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं होने पर 29 जुलाई को जयपुर में विधानसभा का घेराव कर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned