राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती: परमाणु नगरी पहुंची साइकिल रैली,जवानों के स्वागत में बिछाए पलक-पावड़े

Deepak Vyas

Updated: 20 Sep 2019, 08:37:51 PM (IST)

Jaisalmer, Jaisalmer, Rajasthan, India

जैसलमेर/पोकरण. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य पर सीमा सुरक्षा बल सहित केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस फोर्स व असम राइफल्स के साथ विभिन्न अद्र्धसैनिक बलों की ओर से पोरबंदर गुजरात से राजघाट नई दिल्ली तक निकाली गई जवानों की साइकिल रैली शुक्रवार शाम पोकरण पहुंची। रैली के यहां पहुंचने पर पोकरण सीमा से लेकर गांधी चौक तक हजारों लोगों ने पलक पावड़े बिछाकर रैली का स्वागत किया। साइकिल रैली का मुख्य समारोह स्थानीय मदरसा इस्लामिया दारूल उलूम पोकरण में आयोजित किया गया। राजस्थान सरकार के अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण विभाग मंत्री सालेह मोहम्मद के मुख्य आतिथ्य, मदरसे के मोहतमीम कारी मोहम्मद अमीन की अध्यक्षता, बीएसएफ जैसलमेर उत्तर के उपमहानिरीक्षक मुकेेशकुमारसिंह, 57वीं बटालियन के समादेष्टा सुरेन्द्र मिश्रा के विशिष्ट आतिथ्य मेें आयोजित किया गया। इस मौके पर संबोधित करते हुए मंत्री सालेह मोहम्मद ने पैरामिलीट्री फोर्स के सभी साइकिल यात्रियों को गांधी के सत्य, अहिंसा, स्वच्छता, नशामुुक्ति के संदेश को लेकर देशभर में यात्रा करने के लिए उनका आभार व्यक्त करते हुए शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि देश की सीमाएं व लोकतंत्र आप जैसे बहादुरों के त्याग, तपस्या व बलिदान के कारण ही सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि बहादुर सैनानियों का स्वागत करना स्थानीय लोगों के लिए शौभाग्य का विषय है। उन्होंने कहा कि इस रैली के माध्यम से भावीपीढ़ी को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सिद्धांतों व आदर्शों का संदेश मिलेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के गांधीवादी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लगातार दो वर्ष दो अक्टूबर 2020 तक गांधी की 150वीं जयंती मनाने के निर्णय की जानकारी दी। उन्होंने साइकिल यात्रियों को शुभकामनाएं दी। इस मौके पर उपमहानिरीक्षक सिंह ने साइकिल यात्रियों का स्वागत करते हुए राष्ट्रीय एकता, साम्प्रदायिक सद्भाव के लिए स्थानीय मदरसे की ओर से आयोजित स्वागत समारोह के लिए उनका आभार जताया। समादेष्टा मिश्रा ने कहा कि राजस्थान बहादुरों की धरती है तथा पोकरण देश का परमाणु शक्तिस्थल है। उन्होंने कहा कि रैली के माध्यम से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सत्य, अहिंसा, नशामुक्ति, स्वच्छता का संदेश जन-जन तक पहुंचाने में सफलता मिलेगी। उन्होंने साइकिल रैली व उसके साथ आए केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल के अधिकारियों व जवानों का स्वागत किया। इससे पूर्व इससे पूर्व मुफ्ती फजलूदीन ने देश के स्वतंत्रता आंदोलन, आपसी भाईचारे को लेकर अपनी तकरीर पेश की। मुफ्ती अब्दुल सलाम इंदौरी ने देश की राष्ट्रीय एकता, साम्प्रदायिक सद्भाव व लोकतंत्र की रक्षा में देश के प्रत्येक जाति, धर्म के लोगों के सहयोग मुल्क के आपसी भाईचारे, सेना व अद्र्धसैनिक बलों की भूमिका पर विस्तारपूर्वक रोशनी डाली। मदरसे के छात्रों ने राष्ट्रभक्ति के तराने प्रस्तुत किए।
रैली का किया स्वागत, गांधी की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण
रैली के पोकरण पहुंचने पर मिड-वे के पास सरस्वती विद्या मंदिर उमावि की छात्राओं, शक्तिस्थल के पास आरके पब्लिक उमावि के छात्र छात्राओं ने साइकिलसवार जवानों का तिलक लगाकर व पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। इसी प्रकार मदरसा इस्लामिया में पहुंचने पर हाथों में तिरंगे ध्वज लेकर खड़े सैंकड़ों छात्रों ने पुष्पवर्षा कर जवानों का स्वागत किया। समारोह के बाद रैली व्यास सर्किल, स्टेशन रोड, फोर्ट रोड होते हुए गांधी चौक पहुंची। यहां कस्बेवासियों, व्यापार मंडल, सब्जी व्यवसाइयों ने पार्षद नारायण रंगा, विजय व्यास, रमेश माली, राधाकिशन माली, कैलाश पुरोहित, राजेन्द्र पुरोहित सहित लोगों ने पुष्पवर्षा कर रैली का स्वागत किया। यहां आए बीएसएफ के डीआईजी सहित अधिकारियों ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned