scriptMakar Sankranti celebrated traditionally in Jaisalmer | जैसलमेर में परंपरागत रुप से मनाई मकर संक्रांति | Patrika News

जैसलमेर में परंपरागत रुप से मनाई मकर संक्रांति

-हुए दानपुण्य, बाजारों में हुई जमकर खरीददारी

जैसलमेर

Published: January 15, 2022 09:05:39 am


जैसलमेर. कोरोना संक्रमण के बीच भी जैसाण में मकर सक्रांति पर्व को लेकर आस्था का माहौल देखने को मिला। जैसाण के बाशिंदों ने शुक्रवार को अपना दिन दान-पुण्य, पूजा-अर्चना और खान-पान में बिताया। शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में मकर संक्रांति पर्व परंपरागत रुप से मनाया गया। इस दिन शुद्ध जल में तिल व गंगाजल मिलाकर स्नान की और दीघार्यु और निरोगी काया के लिए धर्मराज की पूजा-अर्चना की गई। मंदिरों में जहां श्रद्धालुओं की रेलमपेल दिन भर बनी रही, वहीं लोगों ने भिक्षुकों और कुष्ठï रोगियों को दान पुण्य किए। पो फटते ही लोगों ने ब्रह्मï मुहूर्त में स्नानादि कर्म कर सूर्य उपासना करते हुए शारीरिक विकार, कर्ज से मुक्ति व गृह शांति की प्रार्थना की। इस दौरान सरोवर में भी कई श्रद्धालुओं ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ स्नान कर पुण्य अर्जित किया। स्वर्णनगरी में दिन भर बाजारों में रौनक रही। सौन्दर्य प्रसाधन और बर्तनों की दुकानों में भीड़ देखने को मिली। बाजारों में जहां तिल से बनी खाद्य वस्तुओं के ठेलों में काफी ग्राहकी लगी रही, वहीं महिलाओं ने घरों में तिल व गुड़ से बने व्यंजन बनाए। कई घरों में मकर संक्रांति के मौके पर विवाहित बहन-बेटी पक्ष के लोगों को घर बुलाकर भोजन कराया। इस अवसर पर कन्या पक्ष और ब्राह्मïणों को भोजन भी करवाए गए। बच्चों और युवाओं मेेंं इस दिन पतंग भी उड़ाई।
जैसलमेर में परंपरागत रुप से मनाई मकर संक्रांति
जैसलमेर में परंपरागत रुप से मनाई मकर संक्रांति
हर्षोल्लास के साथ मनाया मकर सक्रांति व लोहड़ी का पर्व
पोकरण. मकर सक्रांति व लोहड़ी का पर्व कस्बे सहित आसपास के क्षेत्र में परंपरा व श्रद्धा के साथ मनाया गया। इसके साथ ही शुक्रवार को मल मास भी समाप्त हो गया। सूर्य के उत्तरायन व मकर रेखा में प्रवेश के मौके पर मनाया जाने वाला मकर सक्रांति का पर्व हर्षोल्लास व श्रद्धा के साथ मनाया गया। इस मौके पर लोगों ने जमकर दान पुण्य किया। विशेष रूप से तिल से बनाए गए खाद्य पदार्थों तिल के लड्डू, रेवड़ी, गजक आदि का दान किया। इसके साथ ही मिठाई में घेवर, मिष्ठानों तथा अन्य वस्तुओं का भी दान पुण्य किया गया। इस मौके पर मंदिरों में दर्शनार्थियों की रेलमपेल लगी रही।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालइन 4 तारीखों में जन्मी लड़कियां पति की चमका देती हैं किस्मत, होती है बेहद लकी“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहकम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

राहुल गांधी ने फॉलोवर्स सीमित होने पर Twitter पर लगाया सरकार के दबाव में काम करने का आरोप, जानिए क्या मिला जवाबकेरल और कर्नाटक में 50 हजार तक सामने आ रहे नए केस, जानिए अन्य राज्यों का हालटाटा ग्रुप का हो जाएगा अब एयर इंडिया, कर्मचारियों को क्या होगा फायदा और नुकसान?झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलाBudget 2022: इस साल भी पेश होगा डिजिटल बजट, जानें कैसे होगी छपाई5 करोड़ का मुआवजा पाने वाले किसान की गोली मारकर हत्या, पत्नी ने बेटे पर लगाया आरोपनीमच में जैन मुनि श्री की समाधि के लिए मुस्लिम व्यक्ति ने दी निशु:ल्क भूमि, हिन्दू-मुस्लिम भाई चारे का दिया परिचयRRB-NTPC Exam: पटना के खान सर समेत कई संस्थानों के खिलाफ एफआईआर, छात्रों को उकसाने का आरोप
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.