scriptचिकित्सा सेवाओं का हो विस्तार, पद रिक्तता की समस्या का हो समाधान | Medical services should be expanded, the problem of vacancies should be solved | Patrika News
जैसलमेर

चिकित्सा सेवाओं का हो विस्तार, पद रिक्तता की समस्या का हो समाधान

सरहदी जिले के परमाणु नगरी के वाशिंदों ने आगामी 10 जुलाई को होने वाले राज्य सरकार के पूर्ण बजट के दौरान चिकित्सा सेवाओं के विस्तार को लेकर उम्मीदें जताई है,ख् साथ ही अपने सुझाव भी दिए। राजस्थान पत्रिका की ओर से सोमवार को टॉक शो का आयोजन किया गया।

जैसलमेरJun 17, 2024 / 08:34 pm

Deepak Vyas

jaislmaer
सरहदी जिले के परमाणु नगरी के वाशिंदों ने आगामी 10 जुलाई को होने वाले राज्य सरकार के पूर्ण बजट के दौरान चिकित्सा सेवाओं के विस्तार को लेकर उम्मीदें जताई है,ख् साथ ही अपने सुझाव भी दिए। राजस्थान पत्रिका की ओर से सोमवार को टॉक शो का आयोजन किया गया। राजकीय जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ.बाबूलाल गर्ग ने कहा कि पोकरण में जिला चिकित्सालय संचालित हो रहा है। साथ ही नए भवनों का निर्माण हो रहा है। सरकार को चाहिए कि पुराने भवन को बंद करने की बजाय यहां सिटी डिस्पेंसरी, बच्चों या महिलाओं के लिए अस्पताल संचालित करें, ताकि कस्बे के साथ ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले मरीजों को तीन किलोमीटर दूर नहीं जाना पड़े और कस्बे में ही चिकित्सा सेवाएं मिल सके। डॉ.जगदीश गहलोत ने कहा कि राजस्थान में भी गुजरात की तर्ज पर चिकित्सा सुविधाओं में विस्तार होना चाहिए। साथ ही अस्पताल में रक्त संग्रहण इकाई, अत्याधुनिक प्रयोगशाला व पर्याप्त संसाधन होने चाहिए। वर्तमान छोटी बड़ी जांच के लिए भी अन्यंत्र जाना पड़ता है। साथ ही संसाधन की कमी के कारण मरीज परेशान होते है। आपातकाल की स्थिति में जोधपुर पहुंचने में ही दो से तीन घंटे का समय लग जाता है। ऐसे में सुविधाओं का विस्तार अतिआवश्यक है। फार्मासिस्ट जितेन्द्र गहलोत, प्रवीण विश्नोई ने कहा कि बीते कई वर्षों से चिकित्सा सेवाओं में समय पर भर्तियां नहीं हो रही है, जिससे पदरिक्तता की समस्या बढ़ रही है। समय पर भर्तियां होने से चिकित्सा सेवाओं में सुधार होगा। दिनेश छीपा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में न तो पर्याप्त चिकित्सा सुविधाएं है, न ही सभी पद भरे हुए है। जिसके कारण गांवों से मरीज अन्यंत्र जाकर उपचार करवाने को मजबूर हो रहे है। सरकार को इस बजट में विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधाओं को मजबूत करने की दरकार है। रुघवीरसिंह चंपावत व मेघसिंह जैमला ने बताया कि राजकीय जिला चिकित्सालय में चिकित्सकों के 31, चिकित्साकर्मियों के 23 पद रिक्त पड़े है। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के सभी 16 और वार्ड बॉय के सभी पांच पद रिक्त है। ऐसे में चिकित्सा सेवाओं के साथ ही सफाई व्यवस्था भी बिगड़ी हुई है। पदों को भरने के साथ व्यवस्थाओं को सुधारने की भी जरुरत है। सामाजिक कार्यकर्ता सुरेन्द्रसिंह भाटी ने कहा कि अस्पताल में कई वर्षों से जीर्णोद्धार का कार्य नहीं हुआ है। जिसके कारण आवास व भवन क्षतिग्रस्त पड़े है, जिनकी मरम्मत करने के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में नए भवनों के निर्माण की दरकार है। इसके साथ ही पानी की समस्या के लिए यहां नलकूप भी अतिआवश्यक है। मनोहरसिंह धोलिया ने भी अपने विचार रखते हुए अत्याधुनिक उपकरणों की जरुरत बताई, ताकि लोगों को अन्यत्र नहीं जाना पड़े।

Hindi News/ Jaisalmer / चिकित्सा सेवाओं का हो विस्तार, पद रिक्तता की समस्या का हो समाधान

ट्रेंडिंग वीडियो