'सामूहिक प्रयासों से संक्रमण पर लगेगा अंकुश, सावधानी जरूरी'

-पोकरण में कोरोना संक्रमण को लेकर बोले अल्पसंख्यक मामलात मंत्री

By: Deepak Vyas

Published: 23 Apr 2020, 11:05 PM IST

जैसलमेर. अल्पसंख्यक मामलात मंत्री व पोकरण विधायक शाले मोहम्मद ने भरोसा दिलाया है कि कोरोना संक्रमितों की संख्या पर अब अंकुश लगेगा और सामूहिक प्रयासों से बेहतर परिणाम मिल सकेंगे। राजस्थान पत्रिका से खास बातचीत में मंत्री शाले मोहम्मद ने कहा कि पूरी दुनिया में कोरोना महामारी आई हुई है। लोगों में खौफ का माहौल है। प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री ने सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की है, जहां तक राजस्थान का सवाल है तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सबसे पहले लॉक डाउन कर पहल की, वहीं वायरस न फैले इसके लिए भी प्रभावी प्रयास किए। उन्होंने कहा कि यह बात सही है कि पोकरण में 30 से अधिक संक्रमित मरीज आए हैं, जिसका उन्हें दु:ख भी है। सुखद बात यह है कि जो पॉजिटिव शुरुआत में आए थे, अब उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आ रही है। उन्होंने कहा कि जब पोकरण से कोरोना संक्रमण की सूचनाएं आई तो उन्होंने लोगों से लॉक डाउन का पालन करने, सोशल डिस्टेेंसिंग रखने आदि को लेकर फोन पर संपर्क किए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए। उनका भी यही प्रयास है। अब तक कोरोना संकट के दौरान की गई मदद के बारे में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि विधायक कोटे से मास्क व सेनेटाइजर के लिए उन्होंने पैसा दिया हैै व फकीर परिवार की ओर से 21 लाख की राशि सहायतार्थ दी गई। उनके परिवार की ओर से 4 हजार लोगों के भोजन की व्यवस्था भी की गई। उन्होंने पुलिसकर्मियों, मेडिकल टीम व मीडियाकर्मियों के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि ग्राउंड लेवल पर बेहतर कार्य होने से आंकड़ा सैकड़ों की संख्या तक नहीं पहुंचा। अधिकाधिक लोग चिह्नित करने, सेम्पल लेने की नीति कारगर रही। यही कारण रहा कि कोरोना संक्रमितों की रफ्तार भी मंद पड़ी है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned