जिला स्तरीय समारोह में मां को सम्बल तो बेटी को मिला सम्मान

-जिला स्तरीय समारोह का आयोजन

By: Deepak Vyas

Published: 16 Oct 2020, 04:49 PM IST

जैसलमेर. जिले में अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस सप्ताह समारोह जिला प्रशासन एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वावधान में डीआरडीए सभा कक्ष में मां को सम्बल एवं बेटी का सम्मान जिला स्तरीय समारोह का आयोजन जिला कलक्टर आशीष मोदी के मुख्य आतिथ्य एवं पूर्व जिला प्रमुख व बेटी बचाओं.बेटी पढ़ाओं की एम्बेसेडर अंजना मेघवाल की अध्यक्षता में आयोजित हुआ।
जिला कलक्टर आशीष मोदी ने कहा कि आज के समय में बेटियां, बेटों से किसी भी क्षेत्र में कम नहीं हैं, बल्कि परिवार के लिए बेटियां ज्यादा संवेदनशील एवं जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि बेटियां बेटों से कम नहीं की धारणा को आज के युग में हमें जीवन में अंगीकार करना होंगा एवं बेटी को भी बेटे से ज्यादा सम्मान देकर उसे हर क्षेत्र में आगे लाना होंगा। उन्होंने महिलाओं से आह्वान किया कि वे बेटियों को बेटों से ज्यादा प्यार दें एवं जिस क्षेत्र में वे जाना चाहती हैं, उसके लिए हर सम्भव सहयोग करें। उन्होंने कहा कि सीमांत जिले में कम संसाधनों के बाद भी बालिकाएं शिक्षा के क्षेत्र में अव्वल आ रही हैंए यह हम सब के लिए गौरव की बात है। उन्होंने शिक्षा में अव्वल रहने वाली बालिकाओं को बधाई दी एवं कहा कि वे उच्च शिक्षा अर्जित कर उच्च पदों को हासिल करें। उन्होंने महिलाओं को बेटी के जन्म को उत्सव के रूप में मनाने की सीख दी एवं कहा कि वे बेटी को आगे बढने के लिए पूरी मदद करें एवं उनका हर समय हौसला अफजाई करें
जिले में बालिका शिक्षा में हो रहा हैं बढ़ावा
पूर्व जिला प्रमुख अंजना मेघवाल ने कहा कि जैसलमेर सीमांत जिले में बेटियों के शिक्षा के प्रति अभिभावकों का रूझान अब बढ़ रहा हैं एवं यहां कि बेटियां हर क्षेत्र में आगे आ रही हैं एवं उच्च पदों को प्राप्त कर रही हैं। उन्होंने कहा कि समाज एवं परिवार का विकास बालिका शिक्षा से ही सम्भव हैंए इसलिए हमें यह संकल्प लेना है कि बेटियों को भी बेटों की तरह उच्च शिक्षा अर्जित करवानी हैं। उन्होंने महिलाओं एव बालिकाओं को अपने अधिकारों के प्रति सजग रहने की सीख दी एवं गुणात्मक परिणाम लाने पर जोर दिया।
शिक्षा के क्षेत्र में अव्वल रहने वाली बालिकाएं पुरस्कृत
जिला कलक्टर एवं पूर्व जिला प्रमुख ने इस मौके पर कक्षा 10 व 12 में जिले में प्रथम रहने वाली बालिकाओं को दस-दस हजार रुपए नकद, मेडल एवं स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया, वहीं अन्य दस-दस छात्राएं जो अव्वल अंक प्राप्त किया। उन्हें पांच-पांच हजार रुपए नकद, मेडल एवं प्रमाण.पत्र देकर सम्मानित किया। इस मौके पर जिनकी एक पुत्री या केवल पुत्रियां ही हैं, उन माताओं का बहुमान किया गया। जिला कलक्टर एवं पूर्व जिला प्रमुख ने ऐसी माताओं का शॉल ओढ़ाकरए श्रीफल भेंटकर, स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया। समापन के अवसर पर सप्ताह के दौरान आयोजित की गई रंगोली, निबन्ध, पेंटिग एवं मेहन्दी प्रतियोगिता की विजेता बालिकाओं को भी सम्मानित किया गया। समापन के अवसर पर उपनिदेशक महिला एवं बाल विकास राजेन्द्र चैधरी ने सप्ताह के दौरान की गई गतिविधियों की जानकारी दी। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग की अधिकारी, पर्यवेक्षक, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका के साथ ही शिक्षा के क्षेत्र में अव्वल रहने वाली छात्राएं एवं उनके अभिभावक एवं गुरुजन भी उपस्थित थे।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned