कोरोना बचाव के लिए टीम भावना से कार्य करने की जरूरत

-राजस्व मंत्री ने पुख्ता उपचार प्रबंधन पर भी दिया जोर
-जिला कलक्टर एवं अन्य अधिकारियों के साथ बैठक लेकर की चर्चा

By: Deepak Vyas

Published: 03 May 2021, 08:42 PM IST

जैसलमेर. राजस्व एवं उपनिवेशन मंत्री हरीश चौधरी ने रविवार को जिला कलक्टर कक्ष में जिला कलक्टर के साथ ही चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति, उपचार के प्रबंधन, दवाइयों की उपलब्धता व ऑक्सीजन की उपलब्धता के बारें में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी टीम भावना से कार्य कर हर हाल में कोरोना मरीज को बचाना हैं एवं उसके उपचार का पुख्ता प्रबन्ध करना हैं।
राजस्व मंत्री चौधरी ने सैम्पल जांच के साथ ही डोर-टू-डोर सर्वे की स्थिति के बारें में भी समीक्षा की एवं कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी सेंपल जांच को प्रभावी बनाने की जरूरत है। प्राथमिक तौर पर सम्भावित लक्षण वाले रोगियों को मेडिकल किट उपलब्ध करवाए जाने चाहिए।
जिला प्रशासन के प्रबंधनों की सराहना की
उन्होंने जिला प्रशासन की ओर से सूक्ष्मता के साथ कोरोना मरीजों के उपचार प्रबंधन, ऑक्सीजन प्रबंधन और सूचना तंत्र के बेहतर मोनिटरिंग के लिए जिला कलक्टर की सराहना की और कहा कि इससे प्रतिदिन मरीजों को कितनी आवश्यकता होगी, उसका आंकलन रहेगा एवं ऑक्सीजन की व्यवस्था करने में भी सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि यह समय हम सभी के लिए चुनौती भरा हैं, लेकिन जिस हिसाब से जिला एवं पुलिस प्रशासन के साथ ही मेडिकल टीम जिस भावना से कार्य कर रही हैं, उससे कोरोना के मरीजों को लाभ मिल रहा हैं एवं उसके संक्रमण के प्रसार को रोकने में भी सफलता मिलेगी। उन्होंने जिला कलक्टर की मांग पर ऑक्सीजन सिलेंडर शीघ्र ही उपलब्ध करवाने का विश्वास दिलाया।
बैठक के दौरान प्रमुख चिकित्साधिकारी डॉ. जेआर पंवार, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कमलेश चौधरी, प्रोग्रामर मनोज चौधरी भी उपस्थित थे।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned