लापरवाही चरम पर, डरा रहा कोरोना

लापरवाही चरम पर, डरा रहा कोरोना

By: Deepak Vyas

Published: 11 May 2021, 10:09 PM IST

नोख. जिले के नोख गांव में कोरोना महामारी ने तांडव मचाना शुरू कर दिया है। नोख गांव में गत पांच दिन में पांच लोगों की मौत होने से हर कोई सहम गया है । इसमें लापरवाही का हाल यह है कि अधिकतर समय पर ईलाज नहीं मिलने और समय पर ईलाज नहीं करवाने की वजह से असमय काल का ग्रास बन गए । खासकर समय पर आक्सीजन व एंबुलेंस नहीं मिलने से रविवार रात को एक युवक की मौत ने मृत हो चुकी व्यवस्थाओं व सुविधाओं की पोल एक बार फिर से खोल दी है । असंवेदनशीलता तो तब देखने को मिली जब दो घंटे कई विभागों से मशक्कत के बाद उसके अंतिम संस्कार के लिए जाने वाले लोगों को मात्र तीन पीपीई किट मिल सके । इन पांचों मौतों में कुछ जांच में पोजिटिव तो कुछ के परिजन पॉजिटिव पाए गए थे । इसके अलावा हाल में हो रही मौतों के बाद उनके अंतिम संस्कार में लापरवाही के कारण संक्रमण और अधिक फैलने की आशंका बनी हुई है । विकट होते हालात के बाद भी नोख जैसे मुख्य केंद्र पर आक्सीजन, एंबुलेंस सहित अन्य सुविधाओं को उपलब्ध करवाने की ओर जिम्मेदार उदासीन बने हुए हैं । ऐसे में आने वाले दिनों में हालात और अधिक भयावह होने की आशंका से इनकान नहीं किया जा सकता।
जागरूकता का अभाव, नहीं पहुंच रहे अस्पताल
गांव में सवा सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव आने के बाद भी लोग सैम्पल देने के लिए कम पहुंच रहे हैं । इसको लोगों की लापरवाही कहें या जागरूकता का अभाव या जिम्मेदारों की उदासीनता पॉजिटिव पाए गए लोगों के परिजन ही कोरोना के शिकार हो कर मौत के मुंह में समा रहे हैं । इसमें अधिकतर लोग डर या जागरूकता के अभाव में समय पर ईलाज नहीं मिल पाने या ले पाने के कारण अचानक गंभीर रूप से बीमार हो कर मर रहे हैं ।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned