परमाणु नगरी में पहले डिस्कॉम, तो अब जलदाय विभाग के कर्मियों को क्वारेंटाइन

पोकरण. कस्बे में रविवार को मिला पहला कोरोना पॉजीटिव डिस्कॉम में लाइनमेन के पद पर कार्यरत था। इसके बाद मंगलवार को आई सूची में एक कोरोना पॉजिटिव जलदाय विभाग में कार्यरत था।

By: Deepak Vyas

Published: 09 Apr 2020, 08:21 PM IST

पोकरण. कस्बे में रविवार को मिला पहला कोरोना पॉजीटिव डिस्कॉम में लाइनमेन के पद पर कार्यरत था। इसके बाद मंगलवार को आई सूची में एक कोरोना पॉजिटिव जलदाय विभाग में कार्यरत था। ऐसे में चिकित्सा विभाग की ओर से एहतियात के तौर पर डिस्कॉम के कर्मचारियों को पूर्व में कस्बे की आशापुरा धर्मशाला में क्वारेंटाइन करवाया गया था। बुधवार व गुरुवार को दो दिनों तक जलदाय विभाग के कर्मचारियों की स्क्रीनिंग की गई तथा पॉजिटिव कर्मचारी के प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से संपर्क में आए विभाग के कर्मचारियों को क्वारेंटाइन करवाया गया।
सड़कों पर पसरा सन्नाटा, घरों तक पहुंच रहा सामान
पोकरण में 19 जनों के पॉजिटिव मिलनेे के बाद पूरे कस्बे में कफ्र्यू लगा दिया गया है। कस्बे की कई गलियों में स्वयं लोगों की ओर से अपनी गलियों को रस्सियां लगाकर बंद कर दिया गया है। कई गलियों को पुलिस की ओर से बंद कर लोगों की आवाजाही पर रोक लगाई गई है। आम दिनों में गुलजार रहने वाली स्टेशन रोडए जोधपुर.जैसलमेर रोड पर गत पांच दिनों से पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ है। पुलिस के अलावा कोई व्यक्ति नजर नहीं आ रहा है। प्रशासन की व्यवस्था के अनुसार किराणा, सब्जी, दूध व अन्य सामान फोन करने पर घरों तक पहुंचाया जा रहा हैै। ऐसे में लोगों को भी राहत मिल रही है और कहीं बाहर जाने की जरुरत नहीं पड़ रही है। यहां तक कि कई मेडिकलों पर व्हाट्सअप की सुविधा भी कर दी गई है। मैसेज करने पर मेडिकल दुकानदार घर तक आकर दवा पहुंचा रहा है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned