JAISALMER NEWS- अब बिना जुर्माना व ब्याज के टेक्स जमा करवाने की सुविधा, करना होगा बस इतना सा...

अब ‘ऑफ’ नहीं ‘ऑन’ होगा टैक्स -बिना ब्याज व जुर्माना जमा कराने की भी सुविधा

By: jitendra changani

Published: 10 Mar 2018, 10:52 PM IST

-परिवहन विभाग की नई योजना-25 तक जमा हो सकेगा वाहनों का बकाया कर
जैसलमेर. स्वर्णनगरी समेत ग्रामीण क्षेत्रों की सडक़ों पर दौडऩे वाले वाहनों के मालिकों को अब वाहनों के बकाया कर को ई-बैकिंग के माध्यम से सीधे बैंक, परिवहन कार्यालय या अतिरिक्त केश काउंटर पर जमा करवाने की सुविधा मिल सकेगी। ऑनलाइन कर जमा करवाने के लिए 25 मार्च अंतिम तिथि निर्धारित की गई है। जिला परिवहन अधिकारी टीआर पूनड़ ने बताया कि नई व्यवस्था से पहले वाहनों के स्वामी अपने वाहन का कर या तो ऑफलाइन या फिर ऑन द रोड ही जमा करवा देते थे। बताया जा रहा है कि विभाग की ओर से पारदर्शिता लाने के लिहाज से जमा का सिस्टम ऑनलाइन किया गया है। डीटीओ पूनड़ ने बताया कि प्रदेश में कर संग्रहण के लिए पहली बार यह व्यवस्था अमल में लाई जा रही है। इसके लिए प्रादेशिक, जिला परिवहन व उप परिवहन कार्यालय में या फिर कार्यालय के बाहर अतिरिक्त काउंटर लगाकर कर संग्रहण में तेजी लाने की भी कवायद की जाएगी। समूचा कार्य इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन ही होगा। अब ऑफलाइन कर जमा नहीं किया जाएगा।
अवकाश के दिन भी खुले रहेंगे कार्यालय
कर दाताओं की सुविधा के लिए मार्च महीने के सभी अवकाशों के दिन भी कार्यालय व काउंटर खुले रहेंगे। अवकाश के दिनो में भी कर संग्रहण का कार्य होगा।
परिवहन विभाग की ओर से लंबे समय से बकाया चल रहा कर बिना जुर्माने के जमा हो सकेगा। विभाग की ऐमनेस्टी योजना के तहत रिपोर्ट तैयार कर खुर्द-बुर्द व नष्ट हुए वाहनों की संतोषजनक रिपोर्ट पर जुर्माना माफ किया जा सकेगा। गौरतलब है कि यह योजना मार्च 2016 तक बकाया कर पर ही लागू रहेगी। सडक़ हादसों में क्षतिग्रस्त वाहनों में या फिर अन्य प्रकरणों के तहत गाडिय़ा थानों में जमा हो जाती है। इन गाडिय़ों को सडक़ पर लाने की प्रक्रिया में काफी समय लगता है। यही कारण है कि वाहन का कर बढ़ जाता है और परमिट रिन्यू करवाने में वाहन मालिक कतराते है। अब नए निर्देशों के तहत ऐसे वाहनों को भी छूट मिलेगी।
यूं मिलेगा लाभ
वाहन पर किसी प्रकार का चालान या ऑडिट पेरा बकाया नहीं होने पर ही एमनेस्टी स्कीम का लाभ मिल सकेगा। अब केवल ऑनलाइन ही टेक्स जमा होगा। जिससे वाहन का टेक्स स्वत: ही खाते में जमा हो जाएगा।
-टीआर पूनड़, जिला परिवहन अधिकारी, जैसलमेर

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika
Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned