प्रभु का ही अंश प्रभु के चरणों मे अर्पित करें: जेठूदान

-धर्म सभाओं का आयोजन

By: Deepak Vyas

Updated: 25 Jan 2021, 08:03 PM IST

जैसलमेर. राम मंदिर जन जागरण समिति जैसलमेर के तत्वावधान निकाली जा रही रथ यात्रा के तहत रविवार को सिरवा, भाखराणी, काठोडा, रामा, कपूरिया, चेलक व तेजमालता में धर्म सभाओं का आयोजन किया। गया जिसमें हर गांव के ग्रामीणों के द्वारा बड़ी उत्साह के साथ स्वागत किया। सभी जगहों पर बालिका कलशए महिला एवं पुरुष भजन मंडलियों के द्वारा रथ का स्वागत किया जा रहा है। रामा गांव में भी रथ यात्रा का स्वागत हुआ, जिसमे जिला बौद्धिक प्रमुख जेठूदान ने कहा कि हमारे पास जो कुछ भी है, वह प्रभु राम का ही है। आज उसमें से कुछ अंश प्रभु के ही चरणों मे समर्पित करके अपने आप को पुण्य समझें। पृथ्वी की संरचना भी राम से ही है। आज हमें कई पीढिय़ों की तपस्या का फल मिल रहा है कि हम अपनी आंखों से प्रभु राम के बने मंदिर का दर्शन करेंगे। कपूरिया में रथ के पहुंचने पर उनका मातृशक्ति के द्वारा मंगल गीत गाकर स्वागत किया उसके बाद गांव में शोभायात्रा निकाली गई जिसके बाद स्थानीय कपूरिया मठ में जिसमें मठाधीश महंत बिरमपुरी के सानिध्य में धर्मसभा का आयोजन किया गया। इसी प्रकार से जिलाकार्यवाह जयंती जी ने बताया कि राम मंदिर के लिए अनेक रामभक्तों ने अपने जीवन जा बलिदान दिया है, जिसके कारण से आज प्रभु राम का मन्दिर बन रहा है। देश भर में यह राष्ट्रव्यापी आंदोलन चल रहा है, जिसमे प्रत्येक रामभक्त को अपनी सामथ्र्यानुसार सहयोग करने की जरूरत है। राम मंदिर से रामराज्य की पुन: स्थापना होगी।
बजरंग दल के विभाग संयोजक लालूसिंह सोढा ने बताया कि धर्म के कार्य में लगकर अपने जीवन का उद्धार करें। हम अपने पूर्वजों का अनुसरण करते देश धर्म समाज के लिए हमेशा अग्रिम पंक्ति में खड़े रहे। इस देश का इतिहास गौरवशाली रहा है आक्रांताओं ने इसे लूटने खसोटने का कार्य किया है। महेश शर्मा ने विजय महामंत्र का दोहरान करवाया। पदमाराम खंड कार्यवाह ने कार्यक्रम का संचालन किया। कपूरिया मठ के मठाधीश के गादीपति ब्रह्मपुरी महाराज ने एक लाख इक्यावन हजार रुपए का राम मंदिर निर्माण में सहयोग देने की घोषणा की गई।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned