JAISALMER NEWS- शीट पर है कुछ ऐसा कि एक साल से पहले चले जाते है कलक्टर साहब...

फिर वही कहानी...कलक्टर के एक साल नहीं टिकने का सिलसिला कायम

By: jitendra changani

Published: 02 May 2018, 10:46 PM IST

कैलाश चंद मीना की जगह अनुपमा जोरवाल होंगी जैसलमेर की नई कलक्टर
-सरकार ने जारी की 81 आईएएस की तबादला सूची
जैसलमेर. सीमावर्ती जैसलमेर जिले में प्रशासनिक मुखिया जिला कलक्टर का औसतन एक वर्ष से भी कम कार्यकाल रहने की परम्परा एक बार फिर जारी रही है। राज्य सरकार ने बीती देर रात्रि को जारी की 81 आईएएस की तबादला सूची में जैसलमेर कलक्टर कैलाश चंद मीना का यहां से स्थानांतरण कर दिया है।उन्हें निदेशक, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान जयपुर के पद पर पदस्थापित किया गया है जबकि अनुपमा जोरवाल को जैसलमेर कलक्टर बनाया गया है।जोरवाल वर्तमान में निदेशक, निशक्तजन विभाग जयपुर में कार्यरत हैं।मीना आजादी के बाद ऐसे 24वें कलक्टर हैं, जिनका कार्यकाल एक वर्ष से कम अवधि का रहा।
60 वीं कलक्टर होंगी अनुपमा
वर्ष 2011 बैच की आईएएस अधिकारी अनुपमा जोरवाल मूलत: जयपुर की रहने वाली हैं और वे जैसलमेर की 60वीं कलक्टर होंगी। जैसलमेर जैसे दुर्गम तथा विस्तृत भूभाग में फैले जिले के कलक्टर पद पर आसीन होने वाली अनुपमा संभवत: दूसरी महिला कलक्टर होंगी। उनसे पहले शुचि त्यागी इस पद पर रह चुकी हैं। 26 मार्च 1980 को जन्मी अनुपमा जोरवाल जैसलमेर से पहले बांसवाड़ा में कलक्टर रह चुकी हैं।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

पंवार और पांडे
-अड़तीस हजार वर्ग किलोमीटर से भी विशाल क्षेत्रफल वाले जैसलमेर जिले में कलक्टर पद पर सर्वाधिक समय डॉ. ललित के. पंवार रहे।
-उनका कार्यकाल सवा तीन वर्ष का था।जबकि एचसी पाण्डे ऐसे कलक्टर रहे जिन्होंने महज 20 दिनों तक ही जैसलमेर की कलक्टरी की।
-डॉ. पंवार 28 अप्रेल 198 5 से 1 अगस्त 198 8 तक जैसलमेर कलक्टर रहे।
-उनके अलावा सज्जननाथ मोदी ने 25 माह, पीएल अग्रवाल और एनएल मीना ने 23-23 महीने तथा सुधांश पंत ने 21 महीने तक कलक्टर पद पर कार्य किया।
-कम समय के लिए कलक्टर रहने वालों में सत्यनारायण गुप्ता, एचसी देराश्री और अम्बरीश कुमार को 4-4 माह, केशव पुरी को 5 और बन्नेसिंह को 6 माह जैसलमेर में कलक्टर रहने का अवसर मिला।
नए अफसरों के लिए सीखने की जगह
छितरी हुई आबादी वाला तथा कई मामलों में पिछड़ेपन का अभिशाप झेलने वाला मरुस्थलीय जैसलमेर जिला राजस्थान में नए आईएएस और आईपीएस अधिकारियों के लिए सीखने की जगह माना जाता है। यही वजह है कि दोनों सेवाओं के नए अधिकारियों को यहां काम करने का अवसर वरीयता से दिया जाता है।जैसलमेर में कलक्टर रहने वाले कुछअधिकारी आगे चलकर प्रदेश के मुख्य सचिव तक रहे हैं।इनमें हाल में मुख्य सचिव पद से रिटायर हुए एनसी गोयल भी शामिल हैं।इतने विशाल क्षेत्र में काम करने के लिए कलक्टर को औसतन एक साल का ही समय मिलता है। उतने समय में उन्हें खुद को साबित करना होता है। यहां नवचयनित आईएएस अधिकारियों को कलक्टर बनाकर भेजा जाता रहा है ताकि वे इस पद की चुनौतियों को भली प्रकार समझ सकें।
फैक्ट फाइल -
- 02 वीं महिला कलक्टर होंगी अनुपमा जोरवाल
- 01 वर्ष का रहता है कलक्टर का औसत कार्यकाल
- 38 हजार वर्ग किमी क्षेत्र में फैला जैसलमेर

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned