scriptOral cancer is increasing due to smoking and tobacco: Dr. Maryam | धूम्रपान व तंबाकू से बढ़ रहा मुंह का कैंसर : डॉ.मरियम | Patrika News

धूम्रपान व तंबाकू से बढ़ रहा मुंह का कैंसर : डॉ.मरियम

locationजैसलमेरPublished: Feb 03, 2024 08:17:35 pm

Submitted by:

Deepak Vyas

- नशामुक्ति का लें संकल्प, लक्षण दिखने पर तत्काल करवाएं जांच

धूम्रपान व तंबाकू से बढ़ रहा मुंह का कैंसर : डॉ.मरियम
धूम्रपान व तंबाकू से बढ़ रहा मुंह का कैंसर : डॉ.मरियम

देश भर में कैंसर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इसमें भी विशेष रूप से मुंह के कैंसर के रोगी अधिक है। हालांकि डब्ल्यूएचओ की ओर से प्रतिवर्ष 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस मनाया जाता है, ताकि आमजन में जागरुकता आ सके, लेकिन आज भी लोग धुम्रपान व तंबाकू का उपयोग कर रहे है। जिससे कैंसर रोग बढ़ता जा रहा है। क्षेत्र के नाचना गांव में स्थित राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की दंत चिकित्सक डॉ.मरियम मेहर का कहना है कि धूूम्रपान व तंबाकू के सेवन से होने वाले मुंह के कैंसर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यही नहीं अत्यधिक शराब के सेवन से भी कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। उन्होंने कहा कि धूम्रपान न करने वाले रोगी ज्यादा प्रदूषण, पर्यावरण परिवर्तन, विकिरण के संपर्क में आने के कारण प्रभावित होते है। उनका कहना है कि ह्यूमन पेपिलोमावायरस एचपीवी संक्रमण पहले की तुलना में बड़ी संख्या में मौखिक कैंसर का कारण बन रहा है। पुरुषों में मुंह का कैंसर महिलाओं की तुलना में दोगुना होता है।

बढ़ सकता है कैंसर का खतरा

डॉ. मरियम मेहर का कहना है कि मुंह व दांतों में पुरानी रगड़, खुरदरे दांतों, डेंचर या फिलिंग से ऐसी दवाएं (इम्यूोस प्रेसेंट) लेना, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करती है, खराब दांत और मौखिक स्वच्छता का ध्यान नहीं रखने के कारण कैंसर रोग हो सकता है। उन्होंने कहा कि कुछ मौखिक कैंसर सफेद पट्टिका (ल्यूकोप्लाकिया) या मुंह के अल्सर के रूप में शुरू होते है।

डरें नहीं, उपचार करवाएं

दंत चिकित्सक डॉ. मेहर ने बताया कि कैंसर का निदान संभव है, लेकिन कई बार मरीजों को समय पर कैंसर की जानकारी नहीं हो पाती है। जिसके कारण कैंसर बढ़ जाता है। इसके अलावा कई बार रोगी डर के कारण भी जांच नहीं करवाता है और कैंसर की बजाय अन्य चिकित्सक से सामान्य बीमारी का उपचार लेते रहते है। जिससे वह धीरे-धीरे लाइलाज हो जाता है। उन्होंने कहा कि अब नई तकनीक से हो रहे उपचार से कैंसर को आखिरी स्टेज तक भी काबू किया जा सकता है और उम्र को कुछ साल तक बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मुंह व गले के कैंसर से बचने के लिए शराब व तंबाकू के अत्यधिक सेवन से बचना चाहिए। साथ ही टूटे हुए दांत, फिलिंग के खुरदरे किनारों को ठीक करना और माउथ वॉश भी बचाव के उपाय है। उन्होंने कहा कि कैंसर से डरें नहीं, जांच करवाएं और यदि पॉजिटिव पाए जाते है तो उसका उपचार लें।

ट्रेंडिंग वीडियो